विफल हमले में कई गिरफ़्तारियाँ

पाकिस्तान में अधिकारियों ने कहा है कि न्यूयॉर्क में विफल बम हमले के सिलसिले में कई संदिग्ध लोगों को गिरफ़्तार किया गया है.

पाकिस्तानी अधिकारियों ने समाचार एजेंसियों को बताया है कि गिरफ़्तार किए गए पांच लोगों में से एक व्यक्ति केटरिंग फ़र्म का सह-मालिक है जिसका नाम सलमान अशरफ़ है.

इस्लामाबाद में अमरीकी दूतावास इस केटरिंग फ़र्म की सेवाएँ लेती रही है.

अमरीकी दूतावास ने अपनी वेबसाइट पर नोटिस लगा रखा है कि केटरिंग फ़र्म से जुड़े जिस व्यक्ति को गिरफ़्तार किया गया है उसका और उसके पिता का ‘आतंकवादी गुटों’ के साथ संबंध हो सकता है.

दूतावास ने कंपनी का नाम हनीफ़ राजपूत केटरिंग सर्विस बताया है. ये स्पष्ट नहीं है कि गिरफ़्तारियाँ कब हुईं. अमरीकी के सुरक्षा अधिकारियों ने इस हफ़्ते पाकिस्तान का दौरा किया है.

न्यूयॉर्क का विफल हमला

न्यूयॉर्क के विफल बम हमले का मुख्य संदिग्ध पाकिस्तानी मूल का अमरीकी नागरिक फ़ैसल शहज़ाद है. उसे हमला करने की कोशिश के दो दिन बाद अमरीका में ही पकड़ लिया गया था.

अमरीका की अदालत के दस्तावेज़ों के मुताबिक फ़ैसल ने माना है कि उसने टाइम्स स्कवेयर में कार बम में विस्फोट करने की कोशिश की थी और ये भी स्वीकार किया है कि बम बनाने का प्रशिक्षण पाकिस्तान के कबायली इलाक़े में लिया.

अमरीका में अभियोजन पक्षा का कहना है कि वो जांच में सहयोग कर रहा है.

अमरीकी अधिकारियों को लगता है कि न्यूयॉर्क के विफल हमले का संबंध पाकिस्तानी तालिबान से है.

इस हफ़्ते अमरीका से एक दल पाकिस्तान आया था जिसमें बराक ओबामा के राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार जनरल जेम्स जोन्स और सीआईए के निदेशक लियोन पनेटा शामिल थे.

इन दोनों ने टाइम्स स्क्वेयर मामले की छानबीन में पाकिस्तान के सहयोग की प्रशंसा की है.

संबंधित समाचार