'सीबीआई और एफ़आईए के बीच होगा सहयोग'

भारत और पाकिस्तान के गृह मंत्रियों ने मुंबई हमलों की मिल कर जाँच करने पर सहमति जताई है. पी चिदंबरम सार्क देशों के गृह मंत्रियों की बैठक में हिस्सा लेने के लिए पाकिस्तान आए हुए थे.

पाकिस्तान के गृह मंत्री रहमान मलिक ने अपने भारतीय समकक्ष के साथ शनिवार को मुलाक़ात की और बाद में एक संयुक्त पत्रकारवार्ता में मुंबई हमलों की मिल कर जाँच करने का फ़ैसला लिया.

दोनों गृह मंत्रियों ने शुक्रवार को भी मुलाक़ात की थी लेकिन उस समय दोनों ने संयुक्त रूप से पत्रकारों से बात नहीं की थी.

पर शनिवार को पत्रकारों से बातचीत में रहमान मलिक ने कहा, “हमने फ़ैसला किया है कि पाकिस्तान की संघीय जाँच एजेंसी और भारत का केंद्रीय जाँच ब्यूरो आतंकवाद से संबंधी मामलों और मुंबई हमलों की मिल जांच करेंगे.”

उन्होंने बताया, “अब हम मिल कर काम करेंगे और यह चरमपंथियों के लिए स्पष्ट संदेश है जो हमें शांति से नहीं रहने देते.”

रहमान मलिक ने आगे कहा, “दोनों देश आपस में दोस्ती चाहते हैं और मैं समझता हूँ कि यह एक अच्छी और सकारात्मक शुरुआत है.”

उन्होंने भारतीय गृह मंत्री को आश्वासन दिया कि उनकी सरकार मुंबई हमलों के अभियुक्तों को न्याय के कठघरे तक पहुँचाएगी.

'सईद को अदालत ने रिहा किया है'

जमात-उल-दावा के प्रमुख हाफिज़ सईद के बारे में पूछे जाने पर रहमान मलिक ने कहा कि उन्हें सुप्रीम कोर्ट ने रिहा किया है और सरकार अदालत के फ़ैसले का आदर करती है.

उनका कहना था, “हमें भारत की ओर से नया दस्तावेज़ दिया गया है और उसमें हाफिज़ के ख़िलाफ़ अगर कोई सबूत मिले तो हम ज़रूर कार्रवाई करेंगे.”

पाकिस्तानी गृह मंत्री ने यह भी आश्वासन दिया कि यदि भविष्य में कोई चरमपंथी हमला होता है तो दोनों देश की एजेंसियाँ मिल कर काम करेंगी.

वहीं भारत के गृह मंत्री पी चिदंबरम ने कहा, “हम आतंकवाद जैसी गंभीर समस्या को मिल कर ख़त्म करने पर सहमत हुए हैं और मुझे विश्वास है कि हमारी कोशिशों से लाभ होगा.”

उन्होंने आगे कहा, “हमने एक दूसरे की परिस्थितियों को समझा है और मैं इस विश्वास के साथ वापस जा रहा हूँ कि भविष्य में आतंकवाद जैसे मुद्दों को गंभीरता से लिया जाएगा.”

मुंबई हमलों पर बात करते हुए पी चिदंबरम ने कहा, “हमें कठोर जाँच की आशा है और हमारे पास सबूत भी हैं. हम चाहते हैं कि मुंबई हमलवारों और उनकी मदद करने वालों को न्याय के कठघरे तक पहुँचाया जाए.”

अपनी यात्रा के अंतिम दिन पी चिदंबरम ने पाकिस्तान के राष्ट्रपति आसिफ़ अली ज़रदारी से भी मुलाक़ात की.

संबंधित समाचार