सिम्पसंस में दिखेंगे मोहम्मद यूनुस

हिट अमरीकी टेलीविज़न सिरीज़ सिम्पसंस के एक एपिसोड नोबेल पुरस्कार विजेता बांग्लादेश के मोहम्मद यूनुस नज़र आएंगे.

ढाका में जारी हुए एक बयान में कहा गया है कि अक्तूबर में प्रसारित होने वाला ये एपिसोड प्रोफ़ेसर यूनुस और उनके ग्रामीण बैंक के कामकाज पर केंद्रित होगा.

इस बैंक के ज़रिए लाखों लोगों को ग़रीबी उन्मूलन में मदद मिली है.

वैसे तो कार्टून सिरीज़ सिम्पसंस और अर्थशास्त्री मोहम्मद यूनुस को एक साथ जोड़कर देखना थोड़ा मुश्किल है. पर ऐसा पहली बार नहीं है कि सिम्पसंस में किसी लोकप्रिय हस्ती को लिया गया हो.

इस मशहूर कार्टून शो में टोनी ब्लेयर जैसे नेता और स्टीवन हॉकिंग जैसे लोग आ चुके हैं. प्रोफ़ेसर यूनुस के योगदान को दर्शाता एपिसोड प्रसारण के लिए तैयार है.

ग्रामीण बैंक

ग्रामीण बैंक ग़रीब लोगों को स्वरोज़गार के लिए सामूहिक रूप से कर्ज़ देता है. आम तौर पर ऐसे लोग इस बैंक के ग्राहक हैं जो बड़े बैंकों से कर्ज़ प्राप्त करने में अपने को असहाय पाते हैं.

वर्ष 2006 में प्रोफ़ेसर यूनुस और ग्रामीण बैंक को माइक्रोक्रेडिट की दिशा में काम करने के लिए नोबेल पुरस्कार दिया गया था.

वर्ष 1974 में बांग्लादेश में आए भयानक अकाल से सबक लेते हुए अर्थशास्त्री मोहम्मद यूनुस ने एक ऐसे बैंक का ख़ाका तैयार किया था जिसकी पहुँच हर ज़रूरतमंद के दरवाज़े तक हो.

वर्ष 1976 में प्रोफ़ेसर यूनुस ने चटगाँव विश्वविद्यालय के सहयोग से प्रयोग के तौर पर कुछ गाँवों में इस योजना को लागू किया.

धीरे-धीरे लोगों में जागरुकता बढ़ी और इस बैंक की मदद से स्वयं सहायता समूहों ने स्वरोजगार का रास्ता अपनाना शुरू किया.

बैंक की सफलता को देखते हुए बांग्लादेश सरकार से वर्ष 1983 में इसे क़ानूनी तौर पर बैंक के रूप में मान्यता मिली थी.