आशावान हैं अफ़ग़ानिस्तान के लोग

अफ़ग़ानिस्तान में तालिबान के साथ सरकारी सेनाओं के संघर्ष के बीच अफ़गानिस्तान की जनता अपने भविष्य को लेकर आशान्वित हैं.

अफ़ग़ानिस्तान में किए गए एक सर्वेक्षण में पाया गया कि वहाँ के पहले की तुलना में भविष्य के प्रति अधिक आशावान हैं.

एशिया फाउंडेशन ने किए सर्वेक्षण में पाया कि जिन लोगों से सवाल किए गए, उनमें से 47 फ़ीसदी लोगों ने कहा कि देश सही दिशा में जा रहा है जबकि पिछले वर्ष केवल 40 फ़ीसदी लोग ही ऐसा मानते थे.

लोगों का ऐसा मानना है कि देश में सुरक्षा की स्थिति सुधरी है, हालांकि लोग हिंसा को लेकर चिंतित हैं.

सर्वेक्षण में पाया गया कि 80 फ़ीसदी लोग तालिबान से बातचीत के पक्ष में हैं.

जबकि पिछले नौ वर्षों में ये साल अफ़ग़ानिस्तान के लिए सबसे रक्तरंजित रहा है. इस साल सबसे अधिक लोगों की मौत हुई है.

हालांकि आधे से अधिक लोग अपनी सुरक्षा के लिए चिंतित थे. इसके अलावा लोगों की दूसरी बड़ी चिंता भ्रष्ट्राचार को लेकर है.

बड़ी संख्या में लोगों का मानना है कि अफ़ग़ानिस्तान में शांति स्थापित करने के लिए सैन्य कार्रवाई के साथ साथ राजनीतिक तरीका भी अपनाया जाना चाहिए.

अमरीकी अंतरराष्ट्रीय विकास एजेंसी की आर्थिक मदद से किए इस सर्वेक्षण में पाया गया कि देश में चरमपंथियों के समर्थन में कमी आई है.

सर्वेक्षण में पाया गया कि अफ़ग़ानिस्तान के दक्षिण और पश्चिम इलाक़े में अब भी कम से कम आधी आबादी चरमपंथियों से सहानुभूति रखती है.

संबंधित समाचार