क़ादरी ने तासीर की हत्या का जुर्म कबूला

Image caption क़ादरी ने कहा है कि इस अपराध में उनके साथ कोई और नहीं था.

पाकिस्तान के पंजाब प्रांत के गवर्नर सलमान तासीर की हत्या के आरोप में गिरफ़्तार मुमताज़ क़ादरी ने अदालत में अपना जुर्म स्वीकार कर लिया है.

रावलपिंडी की आतंकवाद निरोधक अदालत में मुमताज़ क़ादरी को पेश किया गया और उन्होंने अदालत में अपना बयान रिकॉर्ड करवाया.

उन्होंने अदालत को बताया कि उन्होंने सलमान की हत्या से तीन दिन पहले उन्हें मारने का फ़ैसला लिया था.

अपने इकबालिया बयान में क़ादरी ने कहा कि रावलपिंडी में एक धार्मिक सभा हुई थी जिस में कुछ मौलवियों ने भाषण दिए थे और ईश-निंदा क़ानून पर टिप्पणी केलिए सलमान तासीर की कड़ी आलोचना की गई थी.

उन्होंने बताया, “उस आलोचना के बाद मैं ने पंजाब के गवर्नर सलमान तासीर को मारने का इरादा किया था.”

मुमताज़ क़ादरी ने अदालत को बताया कि इस अपराध में उन के साथ कोई ओर लिप्त नहीं है और यह अपराध उन्होंने ख़ुद किया है.

आतंकवाद निरोधक अदालत ने मुमताज़ क़ादरी को 14 दिनों के न्यायक हिरासत में जेल भेजने का आदेश दिया है. इस से पहले अदालत ने मुमताज़ क़ादरी को छह दिनों के रिमांड पर पुलिस के हवाले किया था.

Image caption सारा तासीर अपने पिता सलमान तासीर के साथ

ग़ौरतलब है कि चार दिसंबर को इस्लामाबाद में सलमान तासीर के सुरक्षागार्ड मुमताज़ क़ादरी ने उनकी हत्या कर दी थी.

पुलिस के अनुसार इस्लामाबाद के कोहसार मार्केट में मुमताज़ क़ादरी ने उन पर उस समय गोलियाँ चलाईं थीं जब वे अपनी गाड़ी से उतर रहे थे.

करीब एक महीना पहले सलमान तासीर ने ईश-निंदा के आरोप में मौत की सज़ा काट रही ईसाई महिला आसिया बीबी से मुलाक़ात की थी और उनकी माफ़ी के लिए राष्ट्रपति से अनुरोध करने का आश्वासन दिया था.

इसके बाद से उनको धमकियाँ मिल रही थीं.

इस बीच सलमान तासीर की एक बेटी सारा तासीर ने सोशल नेटवर्किंग साइट ट्विटर पर अपनी भावनाओं को व्यक्त किया है.

उन्होंने लिखा है, “क़ादरी, मेरे पिता के हत्यारे, पर ग़ुस्सा ? नहीं भौंकनेवाले में मेरी कोई रूचि नहीं है...मुझे ग़ुस्सा आ रहा है उसे पालनेवालों पर”

उन्होंने आगे लिखा है, “मैं अभी भी बिस्तर पर ही हूं. मैं इंतज़ार कर रही हूं कि कोई दरवाज़ा खटखटाएगा और कहेगा कि साहब बुला रहे हैं. दरवाज़े पर कोई नहीं आया.”

उन्होंने इस वेबसाइट पर हिलेरी क्लिंटन के बयान और दुनिया के अख़बारों में सलमान तासीर पर छपे लेखों का भी ज़िक्र किया है.

संबंधित समाचार