श्रीलंका में बाढ़ से तबाही

बाढ़ से प्रभावित लोग
Image caption देश के पूर्वी इलाक़े बुरी तरह बाढ़ से प्रभावित हुए हैं

श्रीलंका में ख़राब मौसम के कारण राष्ट्रपति महिंदा राजपक्षे को बाढ़ प्रभावित इलाक़ों का दौरा रद्द करना पडा है.

श्रीलंका में इस वर्ष की शुरुआत में आई बाढ़ में अब तक कम से कम दो लाख लोग प्रभावित हुए हैं और 18 लोगों की मौत हो चुकी है.

पिछले दो हफ्तों से देश के तटीय और पूर्वी इलाक़ों में ज़बर्दस्त बारिश हो रही है.

बुधवार को बारिश के कारण राजपक्षे अपना हेलीकॉप्टर दौरा नहीं कर सके.

बाढ़ के कारण खेत खलिहान में पानी भर गया है.

पूर्वी इलाक़े के अमपारा और बाट्टीकलोआ में बाढ़ का ज़बर्दस्त प्रकोप देखा जा सकता है जहां कई स्थानों पर रेलवे लाइनें भी पानी में डूब गई हैं.

अधिकारियों का कहना है कि शनिवार से इलाक़े में ज़बर्दस्त बारिश हो रही है.

कई नदियों के तटबंध टूट चुके हैं और चावल उत्पादक इलाक़ों में चावल की फसल बर्बाद हो गई है.

कुछ इलाक़ों से लोगों ने बीबीसी को बताया है कि उन्हें दूर दूर तक राहत सहायता का नामोनिशान नहीं दिख रहा है.

बाढ़ के कारण विस्थापित लोग क़रीब 800 शिविरों में रह रहे हैं और ये शिविर स्कूलों के परिसरों में बने हैं जिनके चारों तरफ पानी भर गया है.

वायु सेना ने कई स्थानों पर लोगों को बचाने में मदद की है और खाद्य पदार्थ गिराए हैं.

सरकार ने आम लोगों से अपील की है कि वो राशन मुहैया कराएं.

आपदा प्रबंधन मामलों के उप मंत्री दलीप विजेशेखरा का कहना है कि मुतुर जैसे इलाक़ों में पहुंचना अभी भी मुश्किल है.

संबंधित समाचार