लालटेन की रोशनी में टीवी पर न्यूज़

लालटेन की रोशनी में टीवी पर न्यूज़ इमेज कॉपीरइट none
Image caption कांतिपुर टीवी पर शाम सात बजे का बुलेटिन लालटेन की रोशनी में पढ़ा जा रहा है.

नेपाल के एक बड़े टीवी नेटवर्क में शाम का एक बुलेटिन लालटेन की रोशनी में पढ़ा जा रहा है. चैनल ऐसा करके देश में बिजली की कमी की समस्या की ओर ध्यान दिलाना चाहता है.

इस महीने की शुरूआत से ही नेपाल के कांतिपुर टीवी पर शाम सात बजे से आधे घंटे का बुलेटिन सिर्फ़ लालटेन की रोशनी में पढ़ा जा रहा है.

कांतिपुर न्यूज़ के प्रमुख तीर्थ कोइराला ने कहा कि इसका मक़सद सरकार पर बिजली में कटौती की समस्या को हल करने के लिए दबाव बनाना है.

नेपाल में इनदिनों प्रतिदिन 12 घंटे बिजली की कटौती की जा रही है. तीर्थ कोइराला ने कहा, "हम चाहते हैं कि सरकार जल्द से जल्द और अधिक बिजली का उत्पादन शुरू करे. दर्शकों की ओर से इस क़दम का सकारात्मक जवाब मिला है लेकिन अभी तक सरकार ने कुछ नहीं कहा है."

बिजली की समस्या

नेपाल अपनी ज़रुरत से आधी बिजली का ही उत्पादन कर पाता है. दस साल तक माओवादियों और सरकार के बीच चले संघर्ष के कारण ऊर्जा के क्षेत्र में बहुत कम निवेश हो पाया है.

इसके अलावा वर्ष 2008 में कोसी नदी में आई बाढ़ से देश के ऊर्जा वितरण ढांचे को भारी नुकसान हुआ था.

इस वजह से नेपाल बिजली में कटौती ज़िंदगी का हिस्सा बन गई है.

सर्दियों में ये समस्या और विकट हो जाती है क्योंकि बारिश ना होने और नदियों का जलस्तर कम होने की वजह से मौजूदा बिजली घर अपनी पूरी क्षमता से उत्पादन नहीं कर पाते हैं.

छात्रों के इम्तिहान

इमेज कॉपीरइट none
Image caption कटौती से परीक्षाओं की तैयारी कर रहे छात्र अधिक परेशान हैं.

नेपाल बिजली प्राधिकरण ने कहा है कि आने वाले हफ़्तों में कम से कम चौदह घंटों तक बिजली में कटौती की जा सकती है.

कांतिपुर न्यूज़ के प्रमुख तीर्थ कोइराला कहते हैं, "इनदिनों चार लाख छात्र स्कूल के इम्हितान की तैयारी कर रहे हैं और उन्हें शाम को बिजली नहीं मिलती. साथ ही जो छोटे उद्योग जेनरेटर का ख़र्च नहीं उठा सकते उनका काम भी ठप्प हो जाता है."

कोइराला कहते हैं कि जब तक सरकार जवाब नहीं देती उनके चैनल पर शाम सात बजे का बुलेटिन लालटेन की रोशनी में ही पढ़ा जाता रहेगा.

संबंधित समाचार