कीचड़ उछालने को समर्थन नहीं: सोनिया

सोनिया गांधी
Image caption सोनिया गांधी ने सार्वजनिक जीवन में ईमानदारी के प्रति अपनी वचनबद्धता की दुहाई दी

सोनिया गांधी ने कहा है कि वह कीचड़ उछालने की राजनीति का समर्थन नहीं करती हैं और उनका लोकपाल की संस्था में विश्वास है.

कांग्रेस पार्टी प्रमुख सोनिया गांधी ने ये बातें गांधीवादी कार्यकर्ता अन्ना हज़ारे को लिखे एक पत्र में कही है.

सोमवार को हज़ारे ने सोनिया गांधी को पत्र लिख कर आरोप लगाया था कि उनके कुछ पार्टी सहयोगी लोकपाल विधेयक का मसौदा तैयार करने के लिए गठित संयुक्त समिति के ग़ैरसरकारी सदस्यों की छवि को ख़राब करने का अभियान चला रहे हैं.

याद रहे कि पिछले हफ्ते कांग्रेस महासचिव दिग्विजय सिंह ने एक टेलीविज़न चैनल को दिए साक्षात्कार में अन्ना हज़ारे के ख़िलाफ़ कई टिप्पणियाँ की थीं.

'आप निश्चिंत रहें'

सोनिया गांधी ने अपने पत्र में कहा, "मीडिया में आ रहे बयानों के संदर्भ में मैं आपको आश्वस्त करना चाहती हूं कि कीचड़ उछालने की राजनीति का न तो मैं समर्थन करती हूँ और न इसे बढ़ावा देती हूँ."

अपने पत्र में सोनिया गांधी ने भ्रष्टाचार के ख़िलाफ़ लड़ाई को ज़रूरी बताते हुए कहा कि सार्वजनिक जीवन में ईमानदारी के प्रति उनकी निष्ठा पर अंगुली नहीं उठाई जानी चाहिए.

उन्होंने कहा कि लोकपाल विधेयक राष्ट्रीय सलाहकार परिषद के एजेंडे का अहम अंग है, और 28 अप्रैल को परिषद की बैठक में इससे जुड़े मुद्दों पर विस्तार से विचार-विमर्श होगा.

उल्लेखनीय है कि सोनिया इस परिषद की प्रमुख हैं.

संबंधित समाचार