करज़ई ने महिलाओं-बच्चों की हमलों में मौत की निंदा की

पुलिस स्टेशन पर नागरिकों का हमला इमेज कॉपीरइट elvis
Image caption तालोक़ान में 19 मई को नैटो हमले के विरोध में प्रदर्शनकारियों ने एक थाने को जला दिया

अफ़ग़ानिस्तान के राष्ट्रपति हामिद करज़ई ने देश के दक्षिणी भाग में एक हवाई हमले में दो महिलाओं और 12 बच्चों के मारे जाने की घटना की कड़े शब्दों में निंदा की है.

ग़ौरतलब है कि राष्ट्रपति हामिद करज़ई ऐसे हमलों और नागरिकों को उनसे बचाने के लिए पर्याप्त प्रयास न करने के लिए नैटो की कड़ी आलोचना कर चुके हैं.

उन्होंने रक्षा मंत्रालय से अनुरोध भी किया है कि वह विदेशी सैनाओं की ओर से मनमाने सैन्य अभियानों पर रोक लगाए.

अफ़ग़ानिस्तान में अंतरराष्ट्रीय सेनाओं और सरकार का कहना है कि वे इस मामले की जाँच कर रहे हैं.

नैटो के नेतृत्व वाली सेनाओं के प्रवक्ता टिम जेम्स ने कहा है कि हेलमंद के नौज़ाद ज़िले में एक टीम को घटनास्थल का दौरा करने के लिए भेजा गया है.

मरीन सैन्य अड्डे पर हमले के बाद कार्रवाई

शनिवार को नैटो सेनाओं ने नौज़ाद ज़िले में दो घरों को निशाना बनाया था.

स्थानीय प्रशासन के प्रवक्ता दाऊद अहमदी ने इस हमले में दो महिलाओं और 12 बच्चों के मारे जाने की पुष्टि की थी.

दरअसल शनिवार को एक अमरीकी मरीन सैनिकों के अड्डे पर हमला हुआ था और ये हवाई हमला विद्रोहियों को निशाना बनाकर किया था.

काबुल में बीबीसी के क्वेनटिन सौमरविल का कहना है, "इस घटना के बाद सेरा काला गांव के निवासियों का एक ग्रुप हेलमंद प्रांत की राजधानी लश्कर गाह पहुँचा. ये ग्रुप अपने साथ आठ मृतक बच्चों के शव लाया था जिसमें कुछ बहुत ही छोटी उम्र के थे और एक की उम्र मात्र दो वर्ष थी. देखों ये तालिबान नहीं हैं."

अंतरराष्ट्रीय सेनाओं के एक प्रवक्ता ने इससे पहले बताया था कि उनका एक सैनिक एक मुठभेड़ में मारा गया है और इसके बाद भी एक हवाई हमला किया गया था.

ग़ौरतलब है कि अफ़ग़ानिस्तान में हिंसा की ताज़ा घटनाओं में शनिवार को ही नॉर्दर्न एलांयस के कमांडर अहमद शाह मसूद के अंगरक्षक रह चुके और उत्तरी अफ़ग़ानिस्तान के पुलिस कमांडर जनरल महोम्मद दाऊद दाऊद की तालिबान के एक आत्मघाती हमले में मौत हो गई.

ये हमला प्रांतीय गवर्नर की परिसर में टाख़ार में हुआ था. रविवार को उनका नमाज़े जनाज़ा ख़ासी सुरक्षा के बीच उत्तरी अफ़ग़ानिस्तान में एक अज्ञात जगह पर हो रहा है.

बुधवार को उत्तर-पूर्वी अफ़ग़ानिस्तान में एक नैटो हमले में 20 अफ़ग़ान पुलिसकर्मी, 18 आम नागरिक और 30 तालिबान लड़ाके मारे गए थे. नूरिस्तान प्रांत के गवर्नर ने इसकी पुष्टि की थी.

संबंधित समाचार