बांग्लादेश में विरोध प्रदर्शन

इमेज कॉपीरइट Focus Bangla

बांग्लादेश और एक अमरीकी ऊर्जा कंपनी के बीच हुए समझौते के ख़िलाफ़ ढाका में भारी विरोध प्रदर्शन हुआ है और सौ से ज़्यादा लोग गिरफ़्तार किए गए हैं.

प्रदर्शनकारियों ने बंगाल की खाड़ी में गैस की खोज के लिए अमरीकी कंपनी कोनोकोफ़िलिप्स और बांग्लादेश सरकार के बीच हुए समझौते के ख़िलाफ़ छह घंटे के बंद का आयोजन किया था.

पुलिस को उन्हें तितर-बितर करने के लिए बलप्रयोग करना पड़ा और सौ से ज़्यादा लोगों को गिरफ़्तार किया गया.

ज़्यादातर स्कूल, दुकानें, बाज़ार बंद रहे और सड़कों पर भी इक्का-दुग्गा गाड़ियां ही नज़र आईं

बंद का आयोजन करने वाले वामपंथी रूझान के प्रदर्शनकारियों का कहना है कि ये समझौता बांग्लादेश के हितों को नज़रअंदाज़ करता है.

उनका आरोप है कि यदि गैस मिलता है तो अमरीकी कंपनी उसका 80 प्रतिशत निर्यात कर सकेगी.

लेकिन सरकार का कहना है कि ये समझौता बांग्लादेश की ऊर्जा ज़रूरतों को पूरा कर सकेगा.

बांग्लादेश को अपनी दैनिक ऊर्जा ज़रूरतों में 25 प्रतिशत की कमी का सामना करना पड़ रहा है.

इसे पूरा करने के लिए बांग्लादेश ऊर्जा के नए श्रोत तलाश रहा है क्योंकि एक आकलन के अनुसार उसके मौजूदा श्रोत 2015 तक खत्म हो जाएंगे.

संबंधित समाचार