50 चरमपंथियों को मारने का दावा

नैटो-अफ़ग़ानिस्तान(फ़ाईल फ़ोटो)
Image caption अफ़ग़ान सेना के हाथों सुरक्षा की ज़िम्मेदारी सौंपने की शुरुआत हो चुकी है

अफ़ग़ानिस्तान में नैटो सेना ने दावा किया है कि उन्होंने पूर्वी अफ़ग़ानिस्तान के पक्तिका प्रांत में कम से कम 50 संदिग्ध चरमपंथियों को मार दिया है. नैटो के अनुसार इस अभियान में घंटों तक लड़ाई हुई.

नैटो अधिकारियों के मुताबिक़ जब नैटो सेना और अफ़ग़ान सेना ने एक संयुक्त अभियान में हक़्क़ानी गुट के ज़रिए चलाए जा रहे एक शिविर को ख़ाली कराने की कोशिश की तो चरमपंथियों ने भी जवाबी कार्रवाई की जो कई घंटों तक चली.

नैटो और अफ़ग़ानिस्तान विशेष बल ने मिलकर बुधवार की रात को अभियान की शुरूआत की थी. चरमपंथियों ने अपने मज़बूत बंकरों और गुफ़ाओं से मशीन गन से फ़ायरिंग की और रॉकेट दाग़े.

ये भीषण लड़ाई दूसरे दिन भी जारी रही जिसके बाद नैटो ने 50 चरमपंथियों को मारने और भारी मात्रा में असलहा बारूद बरामद करने का दावा किया.

फ़िलहाल इस लड़ाई में किसी आम शहरी के मारे जाने की कोई ख़बर नहीं है.

शिविर

नैटो का कहना है कि इस शिविर से चरमपंथी पूरे अफ़ग़ानिस्तान में हमले करने की योजना बनाते थे.

काबुल स्थित बीबीसी संवाददाता जोनाथन बियल ने जानकारी दी है कि नैटो को इस शिविर के बारे में चरमपंथियों के ही एक गुट से ख़ुफ़िया जानकारी मिली थी.

हक़्क़ानी नेटवर्क अफ़ग़ानिस्तान और पाकिस्तान सीमा के ईर्द गिर्द सक्रिय हैं.

हक़्क़ानी नेटवर्क को अफ़ग़ानिस्तान सरकार और विदेशी लक्ष्यों के ख़िलाफ़ कई हमलों के लिए ज़िम्मेदार माना जाता है.

हाल ही में राजधानी काबुल के इंटरकॉन्टिनेंटल होटल पर हुए हमले के लिए भी इसी नेटवर्क को ज़िम्मेदार माना जाता है.

इन इलाक़ों में चरमपंथियों के ज़रिए टेलीफ़ोन नेटवर्क को जाम कर दिए जाने के कारण नैटो के इस दावे की स्वतंत्र रूप से पुष्टि नहीं हो पाई है.

संबंधित समाचार