ख़ालिदा पर भ्रष्टाचार का मामला

ख़ालिदा ज़िया इमेज कॉपीरइट no
Image caption ख़ालिदा ज़िया इस समय देश से बाहर हैं

बांग्लादेश के अधिकारियों का कहना है कि विपक्ष की नेता ख़ालिदा ज़िया और उनके बेटे तारिक़ रहमान के ख़िलाफ़ भ्रष्टाचार का मामला दर्ज किया गया है.

ख़ालिदा ज़िया पर ज्ञात आय से ज़्यादा की संपत्ति रखने का आरोप है. जबकि उनके बेटे तारिक़ रहमान पर ग़ैर क़ानूनी रूप से पैसे के हेरफेर का आरोप है.

तारिक़ रहमान के ख़िलाफ़ तो गिरफ़्तारी का वारंट भी जारी कर दिया गया है. माना जा रहा है कि ख़ालिदा ज़िया और उनके बेटे इस समय देश से बाहर हैं. दोनों ने इन आरोपों से इनकार किया है.

बीबीसी संवाददाताओं का कहना है कि ख़ालिदा ज़िया और उनके बेटे के ख़िलाफ़ इन आरोपों से सरकार और विपक्ष के बीच तनाव और बढ़ सकता है.

बांग्लादेश के भ्रष्टाचार निरोधक आयोग ने ख़ालिदा ज़िया पर ये आरोप लगाया है कि उन्होंने अपनी अज्ञात आय से अपने दिवंगत पति के नाम से चैरिटी के लिए ज़मीन ख़रीदी.

आयोग के एक अधिकारी ने बताया कि ज़िया चैरिटेबल ट्रस्ट ने ढाका में ज़मीन ख़रीदने के लिए एक करोड़ 26 लाख टका ख़र्च किया, जिसका कोई ज्ञात स्रोत नहीं था.

मामला

जनवरी 2009 में आवामी लीग पार्टी के सत्ता संभालने के बाद पूर्व प्रधानमंत्री ख़ालिदा ज़िया के ख़िलाफ़ पहला मामला दर्ज हुआ है.

इमेज कॉपीरइट Focus Bangla
Image caption ख़ालिदा ज़िया के ख़िलाफ़ मामला दर्ज

विपक्ष का आरोप है कि भ्रष्टाचार निरोधक आयोग राजनीतिक रूप से निष्पक्ष नहीं है और ख़ालिदा ज़िया के ख़िलाफ़ आरोप आधारहीन है.

ख़ालिदा ज़िया के बेटे तारिक़ रहमान के ख़िलाफ़ ग़ैर क़ानूनी रूप से पैसे के हेरफेर के आरोप के अलावा वर्ष 2004 में एक राजनीतिक रैली पर ग्रेनेड हमला करवाने का आरोप है.

इस मामले में उनके साथ-साथ बांग्लादेश नेशनलिस्ट पार्टी के 18 अन्य लोग भी अभियुक्त हैं.

इसी साल बांग्लादेश की एक अदालत ने तारिक़ रहमान के छोटे भाई अराफ़ात रहमान कोको को ग़ैर क़ानूनी रूप से पैसे के हेरफेर के मामले में छह साल के क़ैद की सज़ा सुनाई थी.

संबंधित समाचार