नंबर 39 यानी दलाल?

लोआ जिरगा इमेज कॉपीरइट Reuters
Image caption इस अंक से इतना बचते हैं कि वाहन का नंबर भी 39 नहीं होता

संख्याएँ सिर्फ़ संख्याएँ नहीं होतीं, हर समाज की संख्याओं को लेकर अपनी कुछ मान्यताएँ और परंपराएँ होती हैं.

दुनिया के बहुत से हिस्सों में 13 को अशुभ अंक माना जाता है. इसकी वजह से कई देशों में बहुमंज़िली इमारतों में 13वीं मंज़िल ही नहीं होती.

भारत में किसी को 420 कह दीजिए या फिर किसी को छह के अंक से जुड़ा 'छक्का' कह दें तो पिटने की नौबत आ जाए.

लेकिन अफ़ग़ानिस्तान की राजधानी काबुल में हो रहे लोया जिरगा यानी महासभा में ऐसा एक अंक उभरा जिसे कोई लेना ही नहीं चाहता था, वह था 39.

पता चला कि इसकी वजह ये है कि अफ़ग़ानिस्तान में 39 का अंक दलाल का अंक माना जाता है. दलाल यानी वेश्याओं का दलाल.

समस्या

लोया जिरगा में क़रीब क़बायली और राजनीतिक नेता हिस्सा ले रहे हैं.

वहाँ अफ़ग़ानिस्तान और अमरीका के भविष्य के रिश्तों को लेकर चर्चा करने के लिए नेताओं को 40 अलग-अलग दलों में बाँटने का निर्णय लिया गया, जिससे कि सार्थक चर्चा हो सके और सब अपनी-अपनी बात कह सकें.

लेकिन समस्या उस समय खड़ी हुई जब वरिष्ठ नेताओं के एक दल ने 39 नंबर लेने से इनकार कर दिया.

जिस दल को 39 का नंबर दिया गया था, उसमें कोई शामिल होने को तैयार नहीं था.

आख़िर इसका हल निकाला गया, एक दल को 41 का नंबर देकर. यानी 39 नंबर वाला दल था ही नहीं.

एक सदस्य ने कहा, "मैं अपने इलाक़े में दलाल होने का तमगा लेकर नहीं लौटना चाहता. मुझे इस बात की चिंता नहीं है कि ये सही बात या नहीं लेकिन लोग तो ऐसा मानते हैं. देखिए किसी की गाड़ी का नंबर 39 नहीं है. तो क्या आप नंबर 39 होना चाहेंगे?"

हालांकि कुछ लोगों ने इसका विरोध किया और कहा कि एक महत्वपूर्ण बहस में बेवजह ध्यान भटकाया जा रहा है.

अफ़ग़ानिस्तान में नंबर 39 को शर्म की बात कहा जाता है.

संवाददाताओं का कहना है कि कुछ लोग मानते हैं कि इस अंक को लेकर ये दुराग्रह इसलिए शुरु हुआ क्योंकि कभी किसी दलाल का नंबर 39 था लेकिन दूसरे कुछ लोग मानते हैं कि ऐसा इसलिए हैं क्योंकि पुरानी ढंग की गिनती में 39 को अब्जद कहा जाता है जिसका अर्थ है, असमान.

और ये विवाद सिर्फ़ लोया जिरगा का नहीं था.

जून में वाहनों का पंजीकरण करने वाले एक अधिकारी ने कहा था कि उनके यहाँ से 39 का नंबर कोई नहीं लेना चाहता क्योंकि अफ़ग़ान इसे लेना ही नहीं चाहते.

संबंधित समाचार