जनता का फ़ैसला 2009
देश की तस्वीर
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
जनता का फ़ैसला 2009

जनता का फ़ैसला 2009

 

मतगणना के बाद कांग्रेस की अगुआई वाला संयुक्त प्रगतिशील गठबंधन यानी यूपीए सत्ता के निकट तक पहुँच गया. वैसे किसी एक पार्टी या गठबंधन को पूर्ण बहुमत नहीं मिला है.

कुल 543 में 541 सीटों के परिणामों के अनुसार यूपीए को 262 सीटें मिलीं जबकि भारतीय जनता पार्टी की अगुआई में राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (एनडीए) को 157 सीटें मिलीं.

वाम मोर्चे की अगुआई वाले तीसरे मोर्चे को 59 सीटें मिली हैं.

समाजवादी पार्टी, राष्ट्रीय जनता दल (राजद) और लोक जनशक्ति पार्टी (लोजपा) के गठबंधन को 26 सीटों पर जीत मिली.

सबसे ज़्यादा चौंकाने वाला परिणाम तमिलनाडु से है जहां डीएमके गठबंधन के पिछड़ने की संभावना जताई जा रही थी लेकिन डीएमके ने अकेले दम पर 18 सीटें जीतीं.

हम आगे के पन्नों में अहम राज्यों के परिणामों से आपको अवगत कराएंगे.
 
^^ पिछले लेख पर वापस जाएँ पहले पन्ने पर चलेंबीबीसी हिंदीचुनाव 2009 विशेष