ज़मानत पर पूर्व क्रिकेटर अब बने कोच

इमेज कॉपीरइट Getty Images

ज़मानत पर चल रहे भारत के पूर्व क्रिकेटर जैकब मार्टिन को बड़ौदा रणजी टीम का कोच बनाए जाने से बड़ा विवाद खड़ा हो सकता है.

10 अंतरराष्ट्रीय वनडे मैच खेल चुके जैकब मार्टिन को 2009 में दिल्ली में मानव तस्करी करने के कथित आरोप पर गिरफ़्तार किया गया था.

मार्टिन के ख़िलाफ़ वर्ष 2003 में दिल्ली के इंदिरा गाँधी अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे थाने में कथित तौर से मानव तस्करी में शामिल होने का मामला दर्ज किया गया था.

उन पर एक भारतीय व्यक्ति को जाली पासपोर्ट के ज़रिए क्रिकेट खेलने के कथित बहाने से ब्रिटेन ले जाने का आरोप था.

गिरफ़्तारी के बाद मार्टिन को न्यायिक हिरासत में भेजा गया और इस बीच भारतीय रेल ने उन्हें नौकरी से बर्खास्त कर दिया था.

इमेज कॉपीरइट PTI

मामला अभी भी अदालत में है और उनके वकीलों ने एनडीटीवी न्यूज़ से कहा है कि अभी मार्टिन ज़मानत पर हैं और उनके ख़िलाफ़ कोई भी अपराध अभी तक साबित नहीं हो सका है.

उधर बड़ौदा क्रिकेट एसोसिएशन के एक अधिकारी ने बीबीसी से जैकब मार्टिन के मार्च, 2017 तक टीम कोच नियुक्त किए जाने की पुष्टि की है.

मार्टिन ने भारतीय क्रिकेट टीम की तरफ़ से अपने सभी मैच विदेशों में खेले और उनका आखिरी मैच 2001 में था.

हाल ही में सुप्रीम कोर्ट के कहने पर बनी जस्टिस लोढ़ा कमिटी ने भारतीय क्रिकेट बोर्ड में सुधार लाने वाले अपने सुझाव सौंपे हैं.

खुद बीसीसीआई और लोढ़ा समिति के दिए गए सुझावों में ज़िक्र है कि ऐसे किसी भी व्यक्ति की बतौर चयनकर्ता नियुक्ति नहीं की जा सकती जिनके ख़िलाफ़ आपराधिक मामले चल रहे हों.

हालांकि जैकब मार्टिन की नियुक्ति बतौर कोच हुई है लेकिन बड़ौदा क्रिकेट एसोसिएशन को इस पर लंबी सफ़ाई देनी पड़ सकती है.

(बीबीसी हिंदी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)