भारत कोलकाता में ही सिरीज़ जीतने उतरेगा

इमेज कॉपीरइट Reuters
Image caption विराट कोहली

जीत के रथ पर सवार भारतीय क्रिकेट टीम शुक्रवार से कोलकाता के ऐेतिहासिक ईडन गार्डंस मैदान में न्यूज़ीलैंड के ख़िलाफ तीन टेस्ट मैचों की सिरीज़ का दूसरा टेस्ट मैच खेलने उतरेगी.

यह भारत की ज़मीन पर खेले जाने वाला 250 टेस्ट मैच होगा, इसलिए इस टेस्ट मैच का भी ऐतिहासिक महत्व है.

इससे पहले भारत ने कानपुर में खेले गए पहले टेस्ट मैच में न्यूज़ीलैंड को 197 रनों से करारी मात दी थी.

विराट कोहली की कप्तानी में भारतीय टीम का जोश सांतवे आसमान पर है.

अब यह देखना दिलचस्प होगा कि क्या विराट कोहली सलामी बल्लेबाज़ के रूप में दो साल बाद वापसी करने वाले गौतम गंभीर को मुरली विजय के साथ अवसर देते हैं या नही.

टीम में पहले से ही सलामी बल्लेबाज़ शिखर धवन मौजूद हैं, हालांकि इन दिनों वह फॉर्म में नही हैं.

इमेज कॉपीरइट jpeg image
Image caption गौतम गंभीर

गौतम गंभीर ने पिछले दिनो घरेलू क्रिकेट में दमदार बल्लेबाज़ी की.

उन्होंने दिलीप ट्रॉफी में इंडिया रैड के ख़िलाफ 77, इंडिया ग्रीन के ख़िलाफ 90 और 59 और फाइनल में इंडिया रैड के ख़िलाफ 94 और 36 रनों की पारी खेली.

वैसे भी गौतम गंभीर आईपीएल में कोलकाता नाइटराइडर्स के कप्तान हैं, और ईडन गार्डंस एक तरह से उनका घरेलू मैदान बन गया है.

वैसे भी दिल्ली के अपने घरेलू मुक़ाबलें फ़िरोज़शाह कोटला मैदान की जगह रोशनारा मैदान में खेले जाते हैं.

टीम के बाकि खिलाड़ियों के चयन को लेकर कोई दुविधा नहीं है.

चेतेश्वर पुजारा ने टीम की रणनीति के अनुरूप दूसरी पारी में तेज़ तर्रार अर्धशतक जमाकर अपने ऊपर लगे धीमी गति से रन बनाने के ठप्पे से छुटकारा पाया.

उन्होंने पहली पारी में भी 62 रन बनाए थे. ख़ुद विराट कोहली ज़रूर रन नही बना पा रहे हैं लेकिन वह किसी भी दिन बड़ी पारी खेल सकते हैं.

उन्होंने वेस्ट इंडीज़ में पहले टेस्ट मैच में दोहरा शतक जमाया था.

मुरली विजय ने भी दोनो पारियों में अर्धशतक जमाया.

इमेज कॉपीरइट AP
Image caption चेतेश्वर पुजारा

रही बात रोहित शर्मा की तो उन्होंने भी दूसरी पारी में नाबाद 68 रन ठोककर टीम से बाहर होने की अपने सिर पर लटकती तलवार हटा दी.

इनके अलावा आर अश्विन और रविंद्र जडेजा ने भी बल्ले से ज़ोरदार खेल दिखाया.

रही गेंदबाज़ी की बात तो, कानपुर में आर अश्विन और रविंद्र जडेजा की जोड़ी न्यूज़ीलैंड के बल्लेबाज़ों पर भारी पडी.

आर अश्विन ने पूरे मैच में 10 और रविंद्र जडेजा ने 6 विकेट लेकर न्यूज़ीलैंड के बल्लेबाज़ों की कमर ही तोड दी.

दूसरी पारी में तो मोहम्मद शमी की स्विंग लेती गेंदों ने भी कमाल किया.

अब यह बात अलग है कि न्यूज़ीलैंड के कप्तान केन विलियम्सन ने पहली पारी में 75 और टॉम लैथम ने 58 तथा ल्यूक रोंकी ने 38 रन बनाकर कुछ संघर्ष किया.

इमेज कॉपीरइट AP
Image caption केन विलियम्सन

जबकि दूसरी पारी में ल्यूक रोंकी ने 80 और मिचेल सैंटनर ने 71 रन बनाकर भारतीय गेंदबाज़ों की कुछ परीक्षा ज़रूर ली लेकिन टर्न लेते स्पिन विकेट पर बाकि बल्लेबाज़ों के ना तो पैर चल सके और ना ही बल्ला.

ऐसे में उनके रोस टेलर और मार्टिन गप्तिल बड़ा स्कोर नही बना पाते हैं तो न्यूज़ीलैंड की मुश्किलें कोलकाता में भी आसान होने वाली नही है.

ऑफ स्पिनर मार्क क्रेग के चोटिल होकर बाहर हो जाने से न्यूज़ीलैंड की समस्या वैसे ही बढ़ चुकी है. उनकी जगह स्पिनर जीतन पटेल लेंगे.

उन्होंने अपना पिछला टेस्ट मैच साल 2013 में दक्षिण अफ्रीका के ख़िलाफ खेला था.

ऐसे में भारतीय क्रिकेट टीम तीन टेस्ट मैचों की इस सिरीज़ का फ़ैसला जीत के साथ ही कोलकाता में ही करना चाहेगी.

दूसरी तरफ न्यूज़ीलैंड की टीम मैच जीतकर सिरीज़ को रोमांच बनाए रखने की कोशिश करेगी.

वैसे ख़बर यह भी है कि आर अश्विन की अंगुली में गहरी चोट है.

अगर वह नही खेलते तो फिर अमित मिश्रा या जयंत यादव को मौक़ा मिल सकता है.

लेकिन अगर अश्विन नहीं खेले तो यह भारत के लिए बड़ा झटका होगा.

अगर भारतीय टीम कोलकाता में जीत जाती है तो वह आईसीसी टेस्ट रैंकिंग में नम्बर एक टीम भी बन जाएगी.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)