इंदौर में जीत: 10 दिलचस्प बातें और रिकॉर्ड

इमेज कॉपीरइट Getty Images

इंदौर टेस्ट के चौथे ही दिन टीम इंडिया ने न्यूज़ीलैंड को 321 रनों के विशाल अंतर से हरा दिया.

मैच की चौथी पारी में मेहमान टीम के सामने जीत के लिए 475 रनों का विशाल लक्ष्य था. इस विशाल लक्ष्य का दबाव और रविचंद्रन अश्विन की फिरकी के सामने कीवी टीम ने घुटने टेक दिए और पूरी टीम महज 153 रनों पर सिमट गई.

इस जीत के साथ ही भारत ने मौजूदा टेस्ट सीरिज़ में कीवी टीम का 3-0 से सफाया कर दिया.

भारत की इस शानदार जीत के दौरान बने रिकॉर्डों और ख़ास बातों पर एक नज़र डालते हैं-

इमेज कॉपीरइट Getty Images

1. भारत ने इंदौर में 321 रनों के विशाल अंतर से जीत हासिल की. ये रनों के हिसाब से भारत की दूसरी सबसे बड़ी जीत है. वैसे टेस्ट में रनों के हिसाब से भारत की सबसे बड़ी जीत दक्षिण अफ्रीका के ख़िलाफ़ है. पिछले ही साल भारत ने द. अफ्रीका को दिल्ली में 337 रनों से हराया था.

2. भारतीय स्पिनर रविचंद्रन अश्विन ने इंदौर टेस्ट की दूसरी पारी में 59 रन देकर सात विकेट चटकाए. ये किसी टेस्ट पारी में उनका सबसे बेहतरीन प्रदर्शन है. इतना ही नहीं इस मैच में उन्होंने कुल मिलाकर 140 रन देकर 13 विकेट लिए. ये किसी टेस्ट मैच में भी अश्विन का सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन है, मैन ऑफ़ द मैच उन्हें ही मिला.

3. अश्विन ने इंदौर टेस्ट की पहली पारी में जब पांचवां विकेट लिया, तो ये उनके करियर में 20वां मौका था, जब उन्होंने एक पारी में पांच विकेट चटकाए हैं. दूसरी पारी में उन्होंने एक बार फिर पांच से ज़्यादा विकेट झटक लिया, यानी 21वीं बार पारी में पांच विकेट. महज 39 टेस्ट मैचों में अश्विन इस मुकाम तक पहुंचे हैं. उनसे बेहतर प्रदर्शन सिडनी बार्न्स (25 टेस्ट) और क्लेरी ग्रिमेट (37 टेस्ट) का ही रहा है.

इमेज कॉपीरइट AP

4. इंदौर टेस्ट के बाद अश्विन के कुल 220 टेस्ट विकेट हो गए हैं. 39 टेस्ट में इतने विकेट अब तक किसी गेंदबाज़ ने हासिल नहीं किए हैं.

5. आर अश्विन ने इस सीरिज़ में कुल 27 विकेट चटकाए. तीन मैचों में 27 विकेट के साथ वे मैन ऑफ़ द सीरिज़ चुने गए. अपने टेस्ट करियर में वे सातवीं बार मैन ऑफ़ द सिरीज़ चुने गए, उन्होंने अब तक केवल 14 सिरीज़ में हिस्सा लिया है.

6. चेतेश्वर पुजारा ने इंदौर टेस्ट की दूसरी पारी में नाबाद 101 रन बनाए. टेस्ट करियर में अपने आठवें शतक के साथ ही उन्होंने इस टेस्ट सीरिज़ में चौथी बार 50 से ज्यादा रन बनाए. तीन या उससे कम टेस्ट मैचों की सीरिज ऐसा कारनामा दिखाने वाले वे महज तीसरे भारतीय क्रिकेटर हैं. मोहिंदर अमरनाथ और राहुल द्रविड़ के बाद.

इमेज कॉपीरइट Getty Images

7. इंदौर टेस्ट में कप्तान विराट कोहली ने पहली पारी में 211 रनों की पारी खेली. इस दोहरे शतक के साथ ही वे टेस्ट क्रिकेट में दो दोहरा शतक जमाने वाले पहले भारतीय कप्तान बन गए.

8. इंदौर टेस्ट की पहली पारी में अजिंक्य रहाणे ने 188 रन बनाए. ये रहाणे का आठवां टेस्ट शतक है. लेकिन नंबर पांच पर बल्लेबाज़ी करते हुए ये किसी भारतीय बल्लेबाज़ का चौथा सबसे बड़ा स्कोर है.

9. अश्विन अब तक न्यूज़ीलैंड के ख़िलाफ़ पांच बार एक टेस्ट पारी में पांच या उससे ज़्यादा विकेट चटका चुके हैं, ये कारनामा दिखाने वाले इकलौते भारतीय गेंदबाज़ हैं.

10. टेस्ट इतिहास में ये चौथा मौका है जब भारत ने तीन या उससे ज्यादा टेस्ट मैचों की सीरिज़ की क्लीन स्वीप करते हुए सामने वाली टीम को हराया है. इससे पहले 1992-93 में इंग्लैंड, 1993-94 में श्रीलंका और 2012-2013 में ऑस्ट्रेलिया के ख़िलाफ़ भारत ये कारनामा कर चुका था.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)