भारत का 900वां वनडे मैच, मुकाबला न्यूज़ीलैंड से

इमेज कॉपीरइट Reuters
Image caption महेंद्र सिंह धोनी

रविवार को भारतीय क्रिकेट टीम धर्मशाला में न्यूज़ीलैंड के ख़िलाफ पहला एकदिवसीय अंतराष्ट्रीय क्रिकेट मैच खेलने के लिए उतरेगी.

दोनों टीमों के बीच पांच एकदिवसीय मैच खेले जाएंगे. भारत के लिहाज़ से यह उसका 900वां एकदिवसीय अंतराष्ट्रीय क्रिकेट मैच है.

भारत अभी तक खेले गए 899 मैचों में से 454 जीता है, 399 हारा है. जबकि, 39 मैचों का कोई परिणाम नही निकला है और सात मैच टाई रहे है.

वैसे भारत और न्यूज़ीलैंड के बीच अभी तक 93 एकदिवसीय मैच खेले गए हैं.

इनमें से भारत ने 46 जीते हैं और 41 हारे हैं. पांच मैचों का परिणाम नही निकला जबकि एक मैच टाई रहा.

इससे पहले भारत ने विराट कोहली की कप्तानी में न्यूज़ीलैंड का टेस्ट सीरिज़ में सफ़ाया करते हुए 3-0 से मात दी थी.

लेकिन अब एकदिवसीय टीम की कमान महेंद्र सिंह धोनी संभालेंगे.

इमेज कॉपीरइट Reuters
Image caption विराट कोहली

टीम में धोनी के अलावा बल्लेबाज़ी में विराट कोहली, रोहित शर्मा, अजिंक्य रहाणे, मनीष पांडेय और केदार जाधव जैसे बल्लेबाज़ हैं.

गेंदबाज़ी में जसप्रीत बुमराह, धवल कुलकर्णी, हार्दिक पांड्या और उमेश यादव जैसे मध्यम तेज़ गेंदबाज़ और अमित मिश्रा, जयंत यादव, अक्षर पटेल जैसे स्पिनर भी हैं.

अब यह देखना दिलचस्प होगा कि महेंद्र सिंह धोनी पहले मैच में किन खिलाड़ियों के साथ मैदान में उतरना पसंद करेंगे.

सुरेश रैना भी भारतीय टीम में हैं लेकिन उन्हे बुखार है जिसकी वजह से वह पहला मैच नही खेल सकेंगे.

इमेज कॉपीरइट Getty Images
Image caption केन विलियमसन

दूसरी तरफ न्यूज़ीलैंड की टीम की कमान केन विलियमसन संभालेंगे.

टेस्ट सीरिज़ में उनका बल्ला बहुत अधिक नही चला और ना ही वह टीम को सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन देने के लिए प्रेरित कर सके.

हालांकि इस बार टेस्ट सिरीज़ विकेट का स्तर दक्षिण अफ्रीका के ख़िलाफ खेली गई सिरीज़ के मुक़ाबले में बेहद अच्छा था, लेकिन शायद आर अश्विन और रविंद्र जडेजा का हव्वा उनके दिलो-दिमाग़ पर छाया रहा.

न्यूज़ीलैंड के लिए राहत की बात है कि इन दोनों की गेंदबाज़ो को आराम दिया गया है.

न्यूज़ीलैंड की टीम भले ही टेस्ट सिरीज़ में आसानी से घुटने टेक बैठी, लेकिन एकदिवसीय क्रिकेट में यह बेहद खतरनाक टीम है.

इमेज कॉपीरइट Getty Images
Image caption मार्टिन गप्टिल

एकदिवसीय क्रिकेट के इतिहास में यह टीम पिछली बार विश्व कप क्रिकेट टूर्नामेंट के फाइनल तक भी जा पहुंची थी.

कप्तान केन विलियमसन के अलावा मार्टिन गप्टिल, टॉम लैथम, रोस टेलर, ल्यूक रॉकी और कोरी एंडरसन बेहतरीन बल्लेबाज़ हैं.

मिचेल सैंटनर अच्छे स्पिनर हैं तो उनका साथ देने के लिए ईश सोढी भी हैं.

तेज़ गेंदबाज़ी का दारोमदार मैट हैनरी, ट्रैंट बोल्ट और अगर फिट हुए तो टिम साउदी संभाल सकते हैं.

वैसे भारत के अजिंक्य रहाणे ने कहा है कि भारतीय टीम ने जिस आक्रामक अंदाज़ में टेस्ट सिरीज़ खेली उसी अंदाज़ के साथ टीम एकदिवसीय सिरीज़ खेलेगी.

धर्मशाला में दोनो टीमें जीत के साथ शुरूआत करना चाहेंगी ताकि सिरीज़ की दिशा शुरू से ही वही रहे.

ऐसे में दोनो टीमों के बीच रोमांचक मैच की उम्मीद की जा सकती हैं.

यह सिरीज़ कप्तान धोनी के लिए भी बेहद महत्वपूर्ण साबित हो सकती हैं, ख़ासकर इसलिए क्योंकि इन दिनों मैच को 'फिनिश' करने की उनकी क्षमता को लेकर कुछ सवाल उठे हैं.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.