छक्के लगाने से लेकर स्टंपिंग तक, धोनी नंबर वन!

इमेज कॉपीरइट AP

दिल्ली के फिरोज़शाह कोटला वनडे में भारत की हार के बाद लोगों ने भारतीय कप्तान महेंद्र सिंह धोनी के फिनिशर होने की क्षमता पर सवालिया निशान लगाए थे.

लेकिन दो दिन बाद मोहाली के पंजाब क्रिकेट एसोसिएशन के मैदान पर धोनी अपने पुराने रंग में नज़र आए. उनका जादू कुछ ऐसा था कि इस मैच में शतक जमाने वाले विराट कोहली एक समय उनके सामने सहयोगी बल्लेबाज़ की भूमिका में नज़र आने लगे थे.

धोनी जब मैदान पर उतरे तब भारत नौवें ओवर में महज़ 41 रन पर दो अहम विकेट गंवा चुका था. सामने 286 रनों का विशाल लक्ष्य था. ऐसे में धोनी ने भी इस मुक़ाबले को अपने लिए एक चुनौती के तौर पर लिया.

वे नंबर चार पर बल्लेबाज़ी करने के लिए उतरे. इसके बाद उन्होंने विराट कोहली के साथ तीसरे विकेट के लिए 151 रन जोड़कर टीम को मज़बूत स्थिति में पहुंचा दिया.

इस दौरान धोनी ने 91 गेंदों पर शानदार 80 रन बनाए. अपनी इस पारी में छह चौके और तीन छक्के जड़े.

व्यक्तिगत उपलब्धियों के लिहाज से देखा जाए तो धोनी के लिए ये मुक़ाबला बेहद ख़ास साबित हुआ है.

उन्होंने अपनी इस पारी के दौरान पहले छक्के की मदद से वनडे क्रिकेट में 9000 रन पूरे किए.

वनडे में 9000 रन के मुकाम तक पहुंचने वाले धोनी पांचवें भारतीय बल्लेबाज़ हैं. वहीं वर्ल्ड क्रिकेट में ये उपलब्धि हासिल करने वाले वे तीसरे विकेटकीपर बल्लेबाज़ हैं.

इमेज कॉपीरइट AP

छक्के लगाने से लेकर स्टंपिंग तक, धोनी नंबर वन!

यही नहीं, अपनी इस पारी के दौरान उन्होंने तीसरा छक्का जमाया तो वे वनडे क्रिकेट में भारत की ओर से सबसे ज़्यादा छक्के जमाने वाले बल्लेबाज़ बन गए.

उन्होंने सचिन तेंदुलकर के 195 छक्कों के रिकॉर्ड को पीछे छोड़ दिया. वे 196 छक्कों के साथ मौजूदा समय में सबसे ज़्यादा छक्के लगाने वाले बल्लेबाज़ों में पांचवें स्थान पर हैं. इस सूची में 351 छक्कों के साथ शाहिद आफ़रीदी नंबर वन हैं.

छक्के लगाने वाले बल्लेबाज़ों में सनथ जयसूर्या (270) दूसरे, क्रिस गेल (238) तीसरे और ब्रैंडन मैक्कलम (200) चौथे पायदान पर हैं.

इतना ही नहीं, धोनी ने न्यूज़ीलैंड की पारी में जब ख़तरनाक दिख रहे रॉस टेलर को अमित मिश्रा की गेंद पर स्टंप किया तो वनडे क्रिकेट में उन्होंने 150वीं बार ये कारनामा कर दिखाया. इसके बाद उन्होंने ल्यूक रौंची को भी स्टंप किया.

वनडे क्रिकेट में स्टंपिंग के 150 शिकार के मुकाम तक पहुंचने वाले धोनी इकलौते विकेटकीपर हैं.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)