कोहली इसी रफ़्तार से शतक बनाते रहे तो...

इमेज कॉपीरइट AP

मोहाली के पंजाब क्रिकेट एसोसिएशन के मैदान पर विराट कोहली ने नाबाद 154 रन की पारी खेलकर टीम इंडिया को धमाकेदार जीत दिला दी.

विराट कोहली तब बल्लेबाज़ी करने उतरे जब टीम इंडिया ने महज 13 रन पर एक विकेट गंवा दिया था और टीम के सामने 286 रनों का विशाल लक्ष्य था.

कोहली विकेट पर टिकते इससे पहले ही उन्हें जीवनदान मिल गया. मेट हेनरी की गेंद पर स्लिप में रॉस टेलर से उनका कैच छूट गया.

इसके बाद कोहली ने इस मुक़ाबले में पीछे मुड़कर नहीं देखा. उन्होंने 134 गेंद पर नाबाद 154 रन ठोक दिए. 16 चौके और एक छक्के की अपनी पारी के साथ वे टीम इंडिया को जीत दिलाकर ही पेवेलियन लौटे.

उनकी इस पारी पर जीत के बाद टीम इंडिया के कप्तान महेंद्र सिंह धोनी ने पुरस्कार प्रजेंटेशन समारोह में कहा, "क्रिकेट में टॉप लेवल क्या होता है, ये कहना बेहद मुश्किल है. लेकिन कोहली ने भारत को गर्व से भर दिया है."

ज़ाहिर है कि भारतीय कप्तान का इशारा विराट कोहली के टॉप लेवल क्रिकेट की ओर ही था, कम से कम वनडे क्रिकेट में कोहली के कारनामे तो मैच दर मैच इसकी तस्दीक ही करते हैं.

इमेज कॉपीरइट AP

मोहाली में कोहली ने अपने वनडे करियर का 26वां शतक बनाया. कोहली किस रफ़्तार से शतक बना रहे हैं, इसका अंदाज़ा इससे लगाया जा सकता है कि महज 174वें वनडे में इस मुकाम तक पहुंच गए हैं.

वनडे क्रिकेट में कोहली से ज़्यादा शतक बनाने वाले बल्लेबाज़ों पर अगर नज़र डालें तो सचिन तेंदुलकर के नाम सबसे ज़्यादा शतक हैं. 49 शतक के लिए तेंदुलकर को 463 मैच खेलने पड़े.

जबकि 30 शतक बनाने वाले रिकी पॉन्टिंग को 375 वनडे. वहीं सनथ जयसूर्या ने 404 वनडे में 28 शतक जमाए.

ऐसे में बहुत जल्द ही वनडे क्रिकेट में शतक बनाने वालों में कोहली दूसरे नंबर पर आ सकते हैं और सचिन तेंदुलकर के वनडे शतकों का रिकॉर्ड भी उनसे बहुत दूर नहीं दिख रहा है.

विराट कोहली के शतकों के साथ सबसे ख़ास बात ये भी है कि वे टीम इंडिया को जीत दिलाने के लिए लगाए शतक हैं.

इमेज कॉपीरइट AP

26 शतकों में कोहली ने 16 शतक तब लगाए हैं जब टीम इंडिया किसी विशाल स्कोर का पीछा करने के लिए खेल रही थी और 14 बार टीम इंडिया जीत हासिल करने में कामयाब हुई है.

दबाव के इन पलों में कोहली साल दर साल और शतक दर शतक ख़ुद को साबित करते रहे हैं.

कोहली की इस ख़ासियत पर चर्चा करते हुए टीम इंडिया के कप्तान एमएस धोनी मोहाली वनडे के बाद कहा, "शुरुआत से ही, कोहली हमेशा ख़ुद को बेहतर करना चाहते रहे ताकि वो टीम इंडिया के लिए मैच जीत सकें."

धोनी ने ये भी माना कि विराट कोहली वैसे क्रिकेटर हैं जिन्हें अपनी ताक़त का बखूबी अंदाज़ा है.

वनडे क्रिकेट में विराट कोहली का करियर महज आठ साल पुराना है और वो अभी कम से कम सात-आठ साल तो खेल ही सकते हैं.

इमेज कॉपीरइट AP

अगर कोहली अपनी क्रिकेट और अपने संयम दोनों पर काबू रख पाए तो वनडे क्रिकेट में बल्लेबाज़ी के तमाम रिकॉर्ड उनके नाम होंगे, इसमें शायद ही किसी को शक हो.

हालांकि वनडे क्रिकेट में शतक लगाने के मामले में उन्हें दक्षिण अफ़्रीकी क्रिकेटर हाशिम अमला से चुनौती मिलती दिख रही है. अमला अब तक 140 वनडे मैचों में 23 शतक लगा चुके हैं.

इस लिहाज से देखें तो वे विराट कोहली को तगड़ी टक्कर दे रहे हैं. लेकिन क्रिकेट के मैदान पर विराट कोहली को बल्लेबाज़ी करते देखने का अनुभव शायद ही कहीं और मिले.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)