बॉलिंग या बैटिंग, अश्विन हर 'टेस्ट' में अव्वल

इमेज कॉपीरइट AP

भारतीय उप-महाद्वीप की पिचों पर उनकी बॉलिंग क़ातिलाना है. एक पारी में पांच विकेट लेना उनकी आदत. और दुनिया के सभी बल्लेबाज़ उनकी वैरिएशन और चालाकी के आगे मात खा रहे हैं.

ये हैं भारत के चर्चित स्पिनर रविचंद्रन अश्विन की, जिन्हें विराट कोहली टेस्ट टीम का 'बेशक़ीमती खिलाड़ी' बता चुके हैं. माना जाता है कि अंग्रेज़ बल्लेबाज़ फिरकी को बेहतर खेलते हैं, लेकिन अश्विन को खेलना उनके बूते से बाहर साबित हुआ.

विशाखापट्टनम टेस्ट में अश्विन ने पहली पारी में पांच विकेट चटकाए. दूसरी में तीन. नतीजा इंग्लैंड की करारी हार. इस मैच में उन्होंने अपने करियर में 22वीं बार और इंग्लैंड के ख़िलाफ़ पहली बार पांच विकेट झटके.

पांच विकेट लेने के मामले में सबसे आगे

भारत के गेंदबाज़ी आक्रमण की रीढ़ बनकर उभरे अश्विन ने अब तक 41 टेस्ट की 76 पारियों में 231 विकेट लिए हैं. उनकी औसत 24.64 है और स्ट्राइक रेट 50.4 का. 22 बार पांच विकेट लेने वाले अश्विन छह बार मैच में 10 विकेट ले चुके हैं.

इमेज कॉपीरइट AFP

पारी में पांच विकेट लेने का उनका रिकॉर्ड शानदार है और फ़िलहाल खेल रहे गेंदबाज़ों में उनके सबसे क़रीब इंग्लैंड के जिमी एंडरसन हैं. एंडरसन ने 120 टेस्ट की 225 पारियों में 21 बार ये कमाल किया है.

इस लिहाज़ से देखें तो अश्विन बेहद कम मैचों में उनसे आगे खड़े हैं. इस मामले में पहले पायदान पर श्रीलंका के मुथैया मुरलीधरन हैं, जिन्होंने 133 मैचों में 67 बार पांच या उससे ज़्यादा विकेट लिए हैं.

एशिया में अश्विन का सामना करना कितना मुश्किल है, इसकी तस्दीक़ आंकड़े करते हैं. कम से कम 100 टेस्ट विकेट लेने वाले गेंदबाज़ों की बात करें, तो अश्विन, इमरान ख़ान और वसीम अकरम जैसे महान गेंदबाज़ों पर भी भारी पड़ते हैं.

एशियाई पिचों पर बेहद ख़तरनाक

एशियाई पिचों पर पांच विकेट लेने के मामले में अश्विन, वक़ार यूनुस (14), इमरान ख़ान (12) और वसीम अकरम (11) से आगे हैं. घर की बात करें, तो वो और धारदार दिखते हैं.

भारतीय पिचों पर अश्विन ने 24 मैचों की 47 पारियों में 21.13 की औसत से 164 विकेट चटकाए हैं और 22 में से 17 बार पांच विकेट घर में लिए हैं.

साल 2016 उनके लिए शानदार साबित हो रहा है. इस साल खेले 9 मैचों में उन्हें 55 विकेट मिले हैं.

इमेज कॉपीरइट Twitter
Image caption बच्चों को स्पिन का मंत्र देते गुरु के रूप में अश्विन

कोहली ने बताया स्मार्ट और इंटेलीजेंट

न्यूज़ीलैंड से टेस्ट सिरीज़ के दौरान भारतीय टीम के टेस्ट कप्तान विराट कोहली ने कहा था कि अगर आप दुनिया के सबसे असरदार खिलाड़ियों की बात करें, तो अश्विन टॉप तीन में गिने जाएंगे.

कोहली ने कहा था, "भारतीय टीम के लिए अश्विन शानदार हैं. वो खेल की बढ़िया समझ रखते हैं. वो स्मार्ट और इंटेलीजेंट हैं और ये उनकी बल्लेबाज़ी में भी झलकता है. टेस्ट टीम में अश्विन जैसा खिलाड़ी होना बेशक़ीमती है."

अगर कोहली उनकी बैटिंग के भी क़ायल हैं, तो इसकी वाजिब वजह है. वो बल्लेबाज़ के रूप में भी टीम इंडिया के लिए बेहद क़ीमती साबित हो रहे हैं.

41 मैच की 59 पारियों में अश्विन ने 1677 रन बनाए हैं. औसत 35 के क़रीब है, जो शानदार है.

अश्विन टेस्ट मैच में चार शतक और आठ अर्धशतक जड़ चुके हैं. ख़ास बात ये है कि वो सिर्फ़ रन नहीं बना रहे, बल्कि अहम मौक़ों पर टिककर खेल रहे हैं और मुख्यधारा के बल्लेबाज़ या पुछल्ले, दोनों के साथ मिलकर टीम को स्थायित्व देने का गुर सीख गए हैं.

इमेज कॉपीरइट Reuters

साल 2016 ना सिर्फ़ उनकी गेंदबाज़ी बल्कि बल्लेबाज़ी के लिए भी जाना जाएगा. इस साल अब तक 9 मैचों की 11 पारियों में 43 की औसत से 473 रन बना चुके हैं.

गेंद के साथ-साथ बल्ले से भी कमाल कर रहे अश्विन अगर आगे भी इसी तरह का खेल जारी रखते हैं, तो हम ये कहने की हिम्मत जुटा सकते हैं कि भारतीय टीम को वो ऑलराउंडर मिल गया है, जिसकी तलाश लंबे वक़्त से थी.

कम से कम टेस्ट के लिए तो ऐसा कहा ही जा सकता है.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)