10 साल बाद हुई ऐसी रनों की बरसात

इमेज कॉपीरइट Reuters
Image caption विराट कोहली और केदार जाधव

भारत और इंग्लैंड के बीच तीन वनडे मैचों की सिरीज़ में क्या रहा ख़ास. इस सवाल का जवाब किसी के लिए भी देना आसान है....रनों की बरसात.

विकेट चाहे पुणे का रहा हो, कटक का या फिर कोलकाता के मशहूर इडेन गार्डेन का, सभी जगह बल्लेबाज़ों ने जमकर रन कूटे.

चौके, छक्कों की ऐसी झड़ी लगी कि चाहे तेज़ गेंदबाज़ हों या फिरकी गेंदबाज़, सभी पर कहर टूटा.

तीन मैचों की सिरीज़ में कुल जमा 2090 रन बने और अब तक के क्रिकेट इतिहास में तीन मैचों की सिरीज़ का ये सबसे बड़ा जोड़ है.

इससे पहले साल 2007 में एफ्रो-एशिया कप में तीन वनडे मुक़ाबलों में 1892 रन बने थे.

पुणे वनडे में इंग्लैंड पर भारत की रोमांचक जीत

कोलकाता वनडे: रोमांचक मुक़ाबले में इंग्लैंड ने भारत को 5 रन से हराया

सिरीज़ के पहले मैच में इंग्लैंड ने पहले बल्लेबाज़ी करते हुए 350 रन बनाए थे.

जवाब में भारत ने विराट कोहली (122) और केदार जाधव (120) की शतकीय पारियों की बदौलत मैच 48.1 ओवरों में 7 विकेट खोकर 356 रन बना दिए.

इमेज कॉपीरइट AFP

कटक में दूसरे वनडे मुक़ाबले में पहले खेलने की बारी भारत की थी और मेजबान टीम ने युवराज सिंह (150) और महेंद्र सिंह धोनी (134) की पारियों के दम पर 381 रन बना डाले.

इंग्लैंड के बल्लेबाज़ भी आसानी से हार मानने वाले नहीं थे और जेसन रॉय (82) और कप्तान इयॉन मोर्गन (102) ने 50 ओवरों में 8 विकेट पर 366 रन बना दिए.

इमेज कॉपीरइट AFP

तीसरे और आखिरी वनडे में कोलकाता में सिरीज़ का सबसे रोमांचक मैच खेला गया.

यहाँ इंग्लैंड ने पहले बल्लेबाज़ी करते हुए 8 विकेट पर 321 रन बनाए, लेकिन भारत 50 ओवरों में जीत से 6 रन दूर रह गया.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

मिलते-जुलते मुद्दे