खेत में डंडे पर निशाना साधते थे युज़वेंद्र चहल

इमेज कॉपीरइट yuzvendra chahal
Image caption युज़वेंद्र चहल

अपनी गेंदबाज़ी से सनसनी मचाने वाले युज़वेंद्र चहल का कहना है कि भारत के लिए अगर आप खेलते हैं तो पैसा तो आता ही है, साथ ही आपको लोकप्रियता भी काफी मिलती है. लोग आपको सिलेब्रिटी समझने लगते हैं और उनके साथ भी वैसा ही हो रहा है.

इंग्लैंड के ख़िलाफ़ बेंगलुरु टी-20 में 25 रन देकर 6 विकेट लेने वाले युजवेंद्र चहल अब एक चर्चित सितारा बन गए हैं. चहल ने पिछले साल वनडे और टी-20 में डेब्यू किया था. हालांकि इंग्लैंड के ख़िलाफ़ ख़त्म हुई टी-20 सिरीज़ ने उन्हें एक नई पहचान दी है.

क्रिकेट में शतरंज की चाल चलने वाले चहल

'ये मेरा पहला मैन ऑफ़ द सिरीज़ ख़िताब है. यह ख़ास है लेकिन अब इस प्रदर्शन को बनाए रखने का दबाव भी होगा.'

इमेज कॉपीरइट yuzvendra chahal

इंग्लैंड के ख़िलाफ़ टी-20 सिरीज़ में आर अश्विन और रविंद्र जाडेजा के बाहर होने के बाद युजवेंद्र को मौका मिला. प्रैक्टिस और सिरीज़ के दौरान उन्हें भारतीय टीम के पूर्व कप्तान एमएस धोनी और वर्तमान कप्तान विराट कोहली से हर तरह की मदद मिली.

प्लेबैक आपके उपकरण पर नहीं हो पा रहा
युजवेंद्र चहल ने बीबीसी से बातचीत में कहा कि अब उनके ऊपर इस प्रदर्शन को जारी रखने का दबाव है.

'नेट्स पर माही भाई बताते रहते थे कि इस विकेट पर ऐसे बॉल डाल सकते हो. वो विकेट के पीछे से भी मदद करते हैं और बल्लेबाज़ की कमज़ोरी बताते रहते हैं.'

चहल की चाल में फँसा इंग्लैंड, भारत विजयी

भारत ने अंतिम गेंद पर इंग्लैंड को हराया

'चाहे मेरी गेंद पर छक्का लगे या चौका, विराट भैया ने कभी मुझ पर प्रेशर नहीं बनाया. वो मुझसे कहते रहते थे कि तू जैसी गेंद करना चाहता है, बिंदास खुलकर डाल. कोच अनिल कुंबले के साथ भी बैठकर हमने काफी योजना बनाई.'

युजवेंद्र इन दोनों ही खिलाड़ियों की कप्तानी में खेल हैं. ऐसे में धोनी और विराट की तुलना पर वो कहते हैं. 'माही भाई या विराट भाई की तुलना नहीं की जा सकती. दोनों एक दूसरे से काफी अलग हैं. माही भाई शांत रहते हैं, वहीं विराट भाई थोड़े आक्रामक हैं.'

इमेज कॉपीरइट yuzvendra chahal

हरियाणा से आने वाले युजवेंद्र ने शुरुआती प्रैक्टिस खेतों में गेंदबाज़ी कर की. इसमें उनके पिता की अहम भूमिका रही.

"पापा ने हमारे खेत पर ही मेरी प्रैक्टिस के लिए विकेट बनाई थी, जिससे मैं कभी भी वहां गेंदबाज़ी कर सकूं."

'चहल की पहल से, इंग्लैंड गया दहल'

युजवेंद्र 26 साल के हैं और किसी आम युवा लड़के की तरह उन्होंने भी जीवन की काफी लंबी योजना बनाई है. इससे पहले कि मीडिया में उनका नाम किसी हीरोइन या मॉडल के साथ जुड़े, शादी को लेकर उन्होंने अपनी प्राथमिकता पहले ही ज़ाहिर कर दी है.

'मीडिया खिलाड़ियों को बॉलीवुड हीरोइन्स के साथ जोड़ते रहते हैं, लेकिन मेरी शादी तो वहीं होगी जहां मां-पापा चाहते हैं.' चहल इसके बाद रणजी ट्रॉफी के वनडे मुकाबले और आईपीएल में खेलते दिखाई देंगे.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

मिलते-जुलते मुद्दे