शांता रंगास्वामी पहली महिला जिन्हें बीसीसीआई देगा लाइफटाइम अचीवमेंट अवॉर्ड

इमेज कॉपीरइट Shantha Rangaswamy/FACEBOOK
Image caption शांता रंगास्वामी हरफ़नमौला क्रिकेटर थीं

शांता रंगास्वामी पहली महिला क्रिकेटर हैं जिन्हें बीसीसीआई लाइफटाइम अचीवमेंट अवॉर्ड देगा.

भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड यानी बीसीसीआई ने शांता रंगास्वामी को महिला क्रिकेट में उनके योगदान के लिए लाइफ़टाइम अचीवमेंट अवॉर्ड के लिए नामांकित किया है.

शांता रंगास्वामी ने 12 टेस्ट मैचों और 16 एकदिवसीय मैचों में भारतीय टीम की कप्तानी की है.

चेन्नई (उस समय के मद्रास) में साल 1954 में जन्मी शांता को भारतीय टीम में जगह वर्ष 1976 में मिली. उन्होंने अपना पहला मैच वेस्ट इंडीज़ के ख़िलाफ़ बेंगलुरू में 3 अक्टूबर 1976 को खेला था.

इस हरफ़नमौला खिलाड़ी ने 16 टेस्ट मैचों की 26 पारी में 32.60 के औसत से 750 रन बनाए. इसमें एक शतक (108 रन) शामिल है. उन्होंने इसके अलावा छह अर्द्धशतक भी लगाए. टेस्ट मैचों में उन्होंने 21 विकेट लिए.

एकदिवसीय मैचों में शांता रंगास्वामी ने 287 रन बटोरे, इसमें एक अर्द्धशतक भी शामिल है. उन्होंने एकदिवसीय मैचों में 353 रन देकर 12 विकेट लिए.

बीसीसीआई ने महिला क्रिकेटरों के लिए लाइफ़टाइम अचीवमेंट पुरस्कार की शुरुआत इसी साल की है और शांता रंगास्वामी यह पुरस्कार पाने वाली पहली खिलाड़ी होंगी.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

मिलते-जुलते मुद्दे