पीएसएल फ़ाइनल: छावनी बना गद्दाफी स्टेडियम

  • 5 मार्च 2017

पाकिस्तान सुपर लीग (पीएसएल) का फ़ाइनल मैच रविवार को लाहौर में क्वेटा ग्लैडिएटर्स और पेशावर ज़ाल्मी के बीच खेला जा रहा है.

Image caption लाहौर के गद्दाफी स्टेडियम में 25 हजार दर्शकों के बैठने की क्षमता है

फ़ाइनल में पहुंचने वाली दोनों टीमों ने लीग मुकाबलों में पहला और दूसरा स्थान हासिल किया था.

जिसके बाद पहले प्ले ऑफ़ गेम में क्वेटा ग्लैडिएटर्स ने पेशावर ज़ाल्मी को रोमांचक मुकाबले में एक रन से हराया था जबकि पेशावर ज़ाल्मी की टीम कराची किंग्स को 24 रन से हराकर फ़ाइनल में पहुंची थी.

Image caption गद्दाफी स्टेडियम और आस-पास के इलाकों में सुरक्षा के बेहद कड़े इंतजाम किए गए हैं

फ़ाइनल मुकाबले से पहले पीएसएल की इस सिरीज़ पर उस वक्त संकट के बादल खड़े हो गए जब फाइनल में पहुंचने वाली 'क्वेटा ग्लैडिएटर्स' के पांच विदेशी क्रिकेटरों ने सुरक्षा चिंताओं के कारण लाहौर न जाने का फैसला कर लिया.

Image caption पुलिस रेंजर्स और दूसरी सुरक्षा एजेंसियां प्रशासन के साथ मिलकर सुरक्षा प्रबंध में लगी हुई हैं

इससे पहले के सभी मैच संयुक्त अरब अमीरात में खेले गए हैं.

सवाल सुरक्षा चिंताओं को लेकर उठे तो कुछ मीडिया रिपोर्टों में कहा गया कि लाहौर के फ़ाइनल मुकाबले के लिए 60,000 सुरक्षा बलों को तैनात किया गया है.

Image caption स्टेडियम में सुरक्षा व्यवस्था के सिलसिले में एजेंसियों ने खोजी कुत्तों की मदद भी ली है

हालांकि पंजाब सूबे के मुख्यमंत्री शाहबाज़ शरीफ़ ने सुरक्षा के लिए मुस्तैद जवानों की संख्या 10,000 बताई है.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

मिलते-जुलते मुद्दे