ऑस्ट्रेलिया के ख़िलाफ़ भारत की जीत के छह हीरो

इमेज कॉपीरइट AP
Image caption भारतीय कप्तान अंजिक्य रहाणे

धर्मशाला में चल रहे टेस्ट मैच में भारत ने जीत दर्ज करते हुए, चार मैचों की बॉर्डर गावस्कर सिरीज़ पर क़ब्ज़ा कर लिया.

दूसरी पारी में भारत ने दो विकेट के नुकसान पर 106 रन बनाते हुए आखिरी मैच आठ विकेट से अपने नाम कर लिया.

ऑस्ट्रेलिया ने अपनी पहली पारी में 300 रन बनाया था, जिसके जवाब में भारत ने 332 रन बनाकर 32 रनों की बढ़त हासिल कर ली थी. दूसरी पारी में ऑस्ट्रेलियाई टीम 137 रनों पर सिमट गई थी.

चौथे दिन भारतीय बल्लेबाज़ दूसरी पारी में 19 रनों से आगे खेलते हुए लंच से पहले ही लक्ष्य हासिल कर लिया.

क्रिकेट: स्टीव वॉ ने कोहली की तारीफ़ की

भारत में खेली गई बेस्ट पारी

भारत की जीत में अहम भूमिका निभाने वाले गेंदबाजों और बल्लेबाजों पर एक नज़र-

रवींद्र जडेजा

इमेज कॉपीरइट AP

रवींद्र जडेजा ने पहली पारी में 63 रन बनाए और एक विकेट भी झटका.

दूसरी पारी में उन्होंने तीन विकेट लेकर ऑस्ट्रेलियाई बल्लेबाजों को बैकफुट पर ले जाने में अहम भूमिका निभाई.

केएल राहुल

इमेज कॉपीरइट AP

भारत के ओपनर बल्लेबाज़ केएल राहुल ने पहली पारी में 60 रन बनाए थे.

दूसरी पारी में उन्होंने 75 गेंदों में 9 चौकों की मदद से 51 रनों का महत्वपूर्ण योगदान किया और नाबाद रहे.

चेतेश्वर पुजारा

इमेज कॉपीरइट Reuters

पुजारा पहली पारी में तीसरे सर्वाधिक रन बनाने वाले बल्लेबाज थे. उन्होंने 57 रन बनाए.

हालांकि दूसरी पारी में उनकी क़िस्मत ने साथ नहीं दिया और वो शून्य पर ही रन आउट हो गये.

उमेश यादव

इमेज कॉपीरइट Reuters

मैच का रुख बदलने का श्रेय भारतीय गेंदबाज़ों को है, जिन्होंने दूसरी पारी में ऑस्ट्रेलियाई बल्लेबाजों को महज 137 रनों पर आउट कर दिया.

उमेश यादव ने दूसरी पारी में तीन विकेट लिए और भारत को ब्रेक-थ्रू दिलाई.

उनके साथ ही जडेजा ने तीन और अश्विन ने भी तीन विकेट लिए.

कुलदीप यादव

इमेज कॉपीरइट AP

मैच में डेब्यू करने वाले कुलदीप यादव ने पहली पारी में 68 देकर चार विकेट लिए.

भारतीय कप्तान विराट कोहली के घायल होने की वजह से कुलदीप को टीम में शामिल किया गया है.

असल में बाएं हाथ के स्पिन गेंदबाज़ कुलदीप गेंद को कलाई से स्पिन कराते हैं. क्रिकेट की शब्दावली में इस तरह के गेंदबाज़ को 'चाइनामैन' कहा जाता है.

आर अश्विन

इमेज कॉपीरइट Reuters

भारत के भरोसेमंद गेंदबाज़ आर अश्विन ने पहली पारी में उस समय विकेट लिया जब ऑस्ट्रेलियाई टीम एक बड़ा स्कोर खड़ा करने की ओर थी.

ऑस्ट्रेलियाई कप्तान स्टीवन स्मिथ शतक लगा चुके थे और उन्हें 111 रनों पर अश्विन ने आउट कर भारत की एक बड़ी बाधा को ख़त्म किया.

चार टेस्ट मैचों की सीरीज़ में पहला मैच ऑस्ट्रेलिया ने और दूसरा भारत ने जीता था, जबकि तीसरा मैच ड्रॉ रहा था.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

मिलते-जुलते मुद्दे