भारत-ऑस्ट्रेलिया टेस्ट सिरीज़: दो देश, चार मैच और कई सारे रिकॉर्ड

विराट कोहली, टीम इंडिया इमेज कॉपीरइट Getty Images

ऑस्ट्रेलिया के ख़िलाफ़ धर्मशाला टेस्ट जीतकर टीम इंडिया ने बॉर्डर-गावस्कर ट्रॉफ़ी जीत ली है.

पहला मैच हारने के बाद भारतीय टीम ने ज़ोरदार वापसी की. दूसरा टेस्ट जीता, तीसरे टेस्ट में जीत के क़रीब पहुंची और चौथे टेस्ट में शानदार जीत दर्ज की.

चौथा टेस्ट- ऑस्ट्रेलिया के ख़िलाफ़ भारत की जीत के 6 हीरो

भारत और ऑस्ट्रेलिया जब आमने-सामने होते हैं तो सिर्फ़ मैच नहीं होता बल्कि बराबरी की टक्कर होती है और यही वजह है कि कई रिकॉर्ड बनते हैं और कई टूटते हैं.

इस सिरीज़ में भी कुछ ऐसा ही हुआ. आइए ग़ौर करें इस दिलचस्प टेस्ट सिरीज़ में बने कीर्तिमानों पर.

  • इस सिरीज़ जीत के साथ टीम इंडिया ने सभी टेस्ट खेलने वाली टीमों के ख़िलाफ़ ट्रॉफ़ी जीतने का रिकॉर्ड बना दिया है.
  • भारत की पिछली टेस्ट सिरीज़ में सिर्फ़ जीत ही जीत दिखी है. उसने ऑस्ट्रेलिया, बांग्लादेश, इंग्लैंड, न्यूज़ीलैंड, पाकिस्तान, श्रीलंका, दक्षिण अफ़्रीका, वेस्टइंडीज़ और ज़िम्बाब्वे के ख़िलाफ़ सिरीज़ जीती हैं
इमेज कॉपीरइट Getty Images
  • टीम इंडिया टेस्ट रैंकिंग में अव्वल है. इस सफ़र में उसने श्रीलंका को 2-1, दक्षिण अफ़्रीका को 3-0, वेस्टइंडीज़ को 2-0, न्यूज़ीलैंड को 3-0, इंग्लैंड को 4-0, बांग्लादेश को 1-0 और ऑस्ट्रेलिया को 2-1 से हराया.
  • भारत ने होम सीज़न में लगातार चौथी सिरीज़ जीती है. न्यूज़ीलैंड, इंग्लैंड, बांग्लादेश और अब ऑस्ट्रेलिया, इस सत्र में टीम इंडिया ने दौरा करने आई चारों टीमों को शिकस्त दी.
  • इस सिरीज़ में रवींद्र जडेजा ने सबसे ज़्यादा विकेट लिए. 18.56 की औसत से 25 विकेट लेने वाले जडेजा के बाद आर अश्विन 21 विकेट के साथ दूसरे पायदान पर हैं.
  • सिरीज़ में रन बनाने के मामले में कंगारू टीम के कप्तान सबसे आगे रहे. 71.28 की औसत से उन्होंने 499 रन बनाए जबकि 57.85 की औसत से 405 रन बनाने वाले चेतेश्वर पुजारा दूसरे पायदान पर हैं.
इमेज कॉपीरइट Twitter/BCCI
  • भारत ने पहला टेस्ट हारने के बाद टेस्ट सिरीज़ जीतने का कमाल चौथी बार किया है. इससे पहले उसने 1972-73 में इंग्लैंड, साल 2000-01 में ऑस्ट्रेलिया और 2015 में श्रीलंका के ख़िलाफ़ ऐसा किया था.
  • भारत के तेज़ गेंदबाज़ों ने इस सिरीज़ में कंगारू गेंदबाज़ों से अच्छा प्रदर्शन किया. भारतीय गेंदबाज़ों की औसत 30.68 रही, जबकि ऑस्ट्रेलियाई बॉलर्स की औसत 31.54. यानी भारतीय तेज़ गेंदबाज़ों ने हर 30 गेंद पर एक विकेट चटकाई
  • साल 2016-17 सीज़न में भारतीय टीम की तरफ़ से सबसे ज़्यादा मैन ऑफ़ द मैच अवॉर्ड लेने के मामले में रवींद्र जडेजा सबसे आगे रहे. उन्हें चार बार ये अवॉर्ड मिला. तीन बार के साथ विराट कोहली दूसरे नंबर पर हैं.
  • केएल राहुल मोहिंदर अमरनाथ के बाद एक टेस्ट सिरीज़ में छह बार 50 से ज़्यादा रन बनाने वाले दूसरे भारतीय बन गए हैं.
  • अजिंक्ये रहाणे अपना पहला टेस्ट बतौर कप्तान जीतने वाले नौंवे भारतीय कप्तान बन गए हैं.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

मिलते-जुलते मुद्दे