विराट कोहली के दिन लद गए हैं?

विराट कोहली इमेज कॉपीरइट AFP

भारतीय क्रिकेट टीम के कप्तान विराट कोहली इन दिनों अपने ख़राब प्रदर्शन से जूझ रहे हैं. विराट आईपीएल टीम रॉयल चैलेंजर्स के भी कप्तान हैं.

इस आईपीएल में कोहली का प्रदर्शन बहुत ही बुरा रहा. उनकी टीम भी टूर्नामेंट से बाहर हो गई है.

2017 के आईपीएल में कोहली ने 9 मैचों में केवल 250 रन बनाए हैं. वहीं पिछले साल के आईपीएल में कोहली ने 959 रन बनाए थे.

विराट कोहली को 47 लाख देने पर उत्तराखंड में बवाल

कोहली हुए बाहर, रहाणे को मिली कप्तानी

इमेज कॉपीरइट BCCI

विराट कोहली के बुरे प्रदर्शन को लेकर चर्चा गर्म है. अगले महीने एक जून से आईसीसी चैंपियन ट्रॉफी शुरू हो रही है.

विराट कोहली के नेतृत्व में टीम इंडिया इस टूर्नामेंट में खेलने जा रही है. सवाल है कि क्या आईपीएल में कोहली के ख़राब प्रदर्शन का असर चैंपियन ट्रॉफी में भी दिखेगा?

प्लेबैक आपके उपकरण पर नहीं हो पा रहा
विराट कोहली के बारे में अनसुनी बाते

भारतीय क्रिकेट टीम के पूर्व ओपनर वीरेंद्र सहवाग ने शुक्रवार को कहा, ''विराट कोहली बुरे फॉर्म से निकलना जानते हैं और उन्होंने अतीत में ऐसा किया भी है. ऐसा सभी खिलाड़ियों के साथ होता है.''

उन्होंने कहा, ''इससे सचिन तेंदुलकर को भी जूझना पड़ा था. वह भी हर साल बेहतर नहीं खेल पाते थे. यहां तक कि मीडिया के भी सवाल वक़्त के साथ बदलते रहते हैं. वक़्त के साथ फॉर्म भी बदलता है. विराट को बख़ूबी पता है कि उन्हें बुरे फॉर्म से कैसे निकलना है.''

इमेज कॉपीरइट Getty Images

सहवाग से पूछा गया कि क्या खिलाड़ी आईपीएल के चलते शारीरिक रूप से प्रभावित हो रहे हैं? इस पर उन्होंने कहा कि वह ऐसा नहीं मानते हैं कि खिलाड़ी आईपीएल के कारण थक जाते हैं.

आईपीएल से पहले कोहली ऑस्ट्रेलिया के साथ सिरीज़ में भी बहुत सफल नहीं रहे थे.

ऑस्ट्रेलिया के साथ कोहली पांच पारियों में 46 रन ही बना पाए थे. चैंपियन ट्रॉफी से पहले कोहली का फॉर्म में नहीं होना भारत के लिए चिंता का विषय होना लाजिमी है.

इमेज कॉपीरइट BCCI

कोहली ने रॉयल चैलेंजर्स की नाकामी पर हाल ही में कहा था, ''हम इस आईपीएल को लेकर कोई सफ़ाई नहीं दे सकते. एक खिलाड़ी के रूप में मैं बहुत दुखी हूं. हम लोगों ने ठीक करने की बहुत कोशिश की लेकिन कर नहीं पाए. ऐसा कई बार होता है. पिछले साल हमने शानदार किया था लेकिन इस साल बिल्कुल ख़राब रहा. हमें इसे स्वीकार कर आगे बढ़ना पड़ता है.''

इमेज कॉपीरइट Twitter

कोहली ने इस बात को स्वीकार किया कि जब चीज़ें बुरी होती हैं तो उसे थामना आसान नहीं होता है.

उन्होंने कहा कि जब नतीजे ख़राब होते हैं तो आत्मविश्वास को वापस लाना मुश्किल होता है. विराट कंधे की चोट से भी जूझ रहे थे. वह इसी चोट के कारण ऑस्ट्रेलिया के साथ धर्मशाला टेस्ट नहीं खेल पाए थे.

इस चोट के बाद से ही कोहली का प्रदर्शन गड़बड़ हुआ था. हालांकि कोहली इस चोट से उबर पाए हैं या नहीं अभी तक साफ़ नहीं है.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

मिलते-जुलते मुद्दे