मुंबई को चैंपियन बनाने वाले क्रुणाल पांड्या

इमेज कॉपीरइट TWITTER/MUMBAI INDIANS

आईपीएल का पहला फ़ाइनल और हाथ में मैन ऑफ द मैच की ट्रॉफी.

मुंबई इंडियन्स के ऑलराउंडर क्रुणाल पांड्या कहते हैं, "फाइनल में मैन ऑफ द मैच चुना जाना एक ख्वाब के सच होने की तरह है."

लेकिन ये ख्वाब किसी इत्तेफ़ाक से हकीकत में नहीं बदला. इसके लिए क्रुणाल ने मुश्किल पिच पर उस वक्त विकेट पर टिके रहने का माद्दा दिखाया जब मुंबई के तमाम स्टार बल्लेबाज़ पैवेलियन लौट चुके थे.

क्रुणाल पिच पर आए तो टीम का स्कोर था तीन विकेट पर 41 रन लेकिन अगले 38 रन जोड़कर टीम ने चार विकेट और गंवा दिए. तब मुंबई का सौ रन के पार जाना भी मुश्किल दिखने लगा.

जॉनसन का कमाल, मुंबई आईपीएल चैंपियन

"मुंबई इंडियन्स जीती, हार गए धोनी"

इमेज कॉपीरइट TWITTER/MUMBAI INDIANS

क्रुणाल कहते हैं, "जब विकेट गिर रहे थे तब मैं 20 ओवरों तक खेलना चाहता था. मैं जानता था कि अगर 19 वें -20वें ओवर तक टिका तो मैं हमला बोल सकता हूं."

उन्होंने यही किया. तीन चौकों और दो छक्कों की मदद से 38 गेंद में 47 रन बनाए और मुंबई को 129 रन के स्कोर तक पहुंचा दिया जो मैच विनिंग टोटल साबित हुआ.

मुंबई इंडियन्स ने हैदराबाद में रविवार को खेले गए फ़ाइनल में राइज़िंग पुणे सुपरजायंट्स को एक रन से मात दी.

दमदार प्रदर्शन

क्रुणाल ने ये कमाल पहली बार नहीं किया.

आईपीएल 10 में वो बार-बार मुंबई के लिए उपयोगिता साबित करते रहे.

कोलकाता नाइट राइडर्स के खिलाफ क्वालिफायर मुक़ाबले में उन्होंने नाबाद 45 रन बनाकर टीम को जीत दिलाई थी.

इमेज कॉपीरइट TWITTER/MUMBAI INDIANS

रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर के खिलाफ 14 अप्रैल को खेले गए मैच में 145 रन का पीछा करते हुए मुंबई ने जब सात रन पर चार विकेट गंवा दिए थे, तब भी क्रुणाल ही टीम के संकटमोचक बने थे और नाबाद 37 रन बनाते हुए टीम को चार विकेट से जीत दिलाई थी.

26 साल के इस ऑलराउंडर ने आईपीएल 10 में मुंबई इंडियन्स के लिए 34.71 के औसत से 13 मैचों में 243 बनाए.

क्रुणाल पांड्या ने 27.3 के औसत से 10 विकेट भी लिए और उनका इकॉनमी रेट रहा 6.28.

इमेज कॉपीरइट TWITTER/MUMABI INDIANS

रिश्ता है ख़ास

आईपीएल 10 में खेल के साथ क्रुणाल ट्विटर पर अपने छोटे भाई हार्दिक पांड्या के साथ हुई कथित नोंकझोंक के लिए भी चर्चा में रहे.

हार्दिक भी मुंबई इंडियन्स के लिए खेल रहे थे और उन्होंने भी अपने ऑलराउंड प्रदर्शन से मुंबई की कामयाबी में अहम रोल निभाया. हार्दिक ने सीज़न के 17 मैचों में 250 रन बनाए और 13 विकेट लिए.

हालांकि ट्विटर पर बताई गई कथित तनातनी के उलट क्रुणाल ने एक साक्षात्कार में कहा, " मैं और हार्दिक पांड्या एक-दूसरे के बिना नहीं रह सकते."

फ़ाइनल जीतने के बाद मुंबई इंडियन्स के कप्तान रोहित शर्मा ने दोनों भाइयों की तारीफ करते हुए कहा, "पांड्या भाई खास हैं."

आईपीएल: सुपरओवर में बुमराह का सुपर कमाल

इमेज कॉपीरइट TWITTER/MUMBAI INDIANS

अहमदाबाद में जन्मे क्रुणाल ने क्रिकेट की बारीकियां भारतीय टीम के पूर्व विकेटकीपर किरण मोरे की अकादमी में सीखीं. उन्होंने इकलौता प्रथम श्रेणी मैच बडौदा के लिए खेला है. बडौदा के लिए वो 15 ट्वेंटी-20 मैच भी खेल चुके हैं.

हालांकि, राष्ट्रीय स्तर पर पहचान बनाने के मामले में उनके छोटे भाई हार्दिक आगे रहे. हार्दिक ने साल 2016 में भारतीय वनडे टीम में जगह बनाई. वो भारत के लिए सात वनडे और 19 ट्वेंटी-20 मैच खेल चुके हैं.

लेकिन आईपीएल 10 के सबसे बड़े मैच में हार्दिक और मुंबई इंडियन्स के दूसरे स्टार खिलाड़ियों को पीछे छोड़ते हुए क्रुणाल सबसे दमदार खिलाड़ी साबित हुए.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

मिलते-जुलते मुद्दे