चैंपियंस ट्रॉफी में भारत-पाक मैच- कोहली तीन पेसर, एक स्पिनर को उतारेंगे?

  • 4 जून 2017
प्लेबैक आपके उपकरण पर नहीं हो पा रहा
भारत-पाक मैच की खुमारी चढ़ती जा रही है. प्रीतेश और हिनेश की बातों से इसका अंदाजा लगता है.

आईसीसी चैंपियंस ट्रॉफी में रविवार को भारत और पाकिस्तान आमने-सामने हैं.

इसी के साथ ग्रुप बी में शामिल दोनों टीमें अपने अभियान का आग़ाज़ भी करेंगी. भारत और पाकिस्तान के बीच आईसीसी चैंपियंस ट्रॉफी में तीन बार आपस में भिड़ंत हुई है.

इनमें दो बार पाकिस्तान और एक बार भारत जीता है. साल 2004 में इंग्लैंड में हुई चैंपियंस ट्रॉफी में पाकिस्तान ने भारत को ग्रुप मैच में तीन विकेट से हराया था.

2009 में दक्षिण अफ्रीका में हुई चैंपियंस ट्रॉफी में पाकिस्तान ने ग्रुप मैच में भारत को 54 रन से हराया.

'गुहा का इस्तीफ़ा, सामने आई BCCI की सच्चाई'

कुंबले से अनबन की ख़बर कोरी अफ़वाहःकोहली

इमेज कॉपीरइट Getty Images
Image caption टीम पाकिस्तान

कोहली ने क्या कहा

इसके बाद साल 2013 में इंग्लैंड में हुई चैंपियंस ट्रॉफी में भारत ने पाकिस्तान को ग्रुप मैच में डकवर्थ-लूइस नियम के आधार पर 8 विकेट से हराया.

चैंपियंस ट्रॉफी के आंकड़ें कुछ भी कहें लेकिन वर्तमान हालात में भारत का पलड़ा पाकिस्तान पर भारी दिखाई देता है.

मैच से पहले भारत के कप्तान विराट कोहली ने भले ही कहा हो कि यह मैच उनके लिए दूसरे मैचो की तरह ही है लेकिन उन्हे भी पता है कि इस मैच की अहमियत क्या है.

'ऐसे ही तो रेस में शामिल नहीं हुए सहवाग'

'धोनी टेस्ट नहीं खेलते, फिर उन्हें ए ग्रेड क्यों?'

इमेज कॉपीरइट AFP
Image caption सरफराज़ अहमद

भारत-पाक मुक़ाबला

भारत में तो पाकिस्तान के ख़िलाफ मिली जीत को टूर्नामेंट जीतने जैसा ही मान लिया जाता है.

दूसरी तरफ पाकिस्तान के कप्तान सरफराज़ अहमद कहते हैं, "भारत-पाक मुक़ाबला हमेशा रोमांचक होता है. आम जनता के अलावा खिलाड़ियों में भी जोश दिखाई देता है. टीम ने चार-पांच दिन अभ्यास किया है. सौ प्रतिशत मैदान पर प्रदर्शन करने की कोशिश होगी."

इस मैच से पहले भारतीय कप्तान विराट कोहली और कोच अनिल कुंबले के बीच तनाव की ख़बरें भी सुर्खियों में आती रही हैं जिसका असर टीम के खेल पर पड़ सकता है.

लेकिन शनिवार को विराट कोहली ने साफ किया कि ऐसा नहीं है. भारत ने पाकिस्तान से होने वाले मैच से पहले दोनों अभ्यास मैचों में बेहद दमदार खेल दिखाया.

पाकिस्तान ने कहा आधारहीन है अफ़ग़ानिस्तान का दावा

चैपियंस ट्रॉफ़ीः इंग्लैंड ने बांग्लादेश को हराया

इमेज कॉपीरइट AFP
Image caption शिखर धवन

शिखर-रोहित की जोड़ी

भारत ने पहले मैच में न्यूजीलैंड को डकवर्थ-लूइस नियम के आधार पर 45 रन से हराया.

गेंदबाज़ी में मोहम्मद शमी और भुवनेश्वर कुमार ने तीन-तीन विकेट लिए तो बल्लेबाज़ी में कप्तान विराट कोहली ने नाबाद 51 रन बनाकर खोई फॉर्म हासिल की.

सलामी बल्लेबाज़ शिखर धवन ने भी 40 रन बनाए. पिछली बार जब भारत इंग्लैंड में ही चैंपियन बना था तब धवन और रोहित शर्मा की जोड़ी ने अहम भूमिका निभाई थी.

हालांकि रोहित शर्मा और अजिंक्य रहाणे अब भी अपनी लय में नही है जो चिंता का कारण है. दूसरे अभ्यास मैच में तो भारत ने बांग्लादेश का हाल ही खराब कर दिया.

शिखर धवन ने 60 और दिनेश कार्तिक ने रिटायर्ड आउट होने से पहले 94 रन बनाए. हार्दिक पांड्या ने भी नाबाद 80 रन ठोककर अपना दावा पेश किया.

कोहली की कुंबले से पटती नहीं है क्या?

भारतीय क्रिकेटरों के दीवाने बने 'पाकिस्तानी चचा'

इमेज कॉपीरइट AFP
Image caption भुवनेश्वर कुमार

कोहली के विकल्प

भारत ने 7 विकेट खोकर 324 रन बनाए और इसके बाद बांग्लादेश को सिर्फ 23.5 ओवर में 84 रन पर निबटा दिया. भुवनेश्वर और उमेश यादव ने तीन-तीन विकेट झटके.

अभ्यास मैचों से यह तो साबित हो गया कि गेंदबाज़ों को ये समझ में आ गया है कि उन्हें कैसी गेंदें फेंकनी हैं. अब समस्या यह है कि भारत अंतिम 11 में किसे शामिल करे.

भारत के पूर्व कोच और ऑलराउंडर रहे मदन लाल कहते हैं, "विराट कोहली तीन तेज़ गेंदबाज़ और एक स्पिनर रवींद्र जडेजा के साथ खेल सकते हैं. बल्लेबाज़ी में रोहित शर्मा और अजिंक्य रहाणे की फॉर्म को लेकर उन्हे चिंता नही है. उनका मानना है कि वे विश्व स्तरीय बल्लेबाज़ हैं और ऐसे हालात से निपटना जानते हैं."

दिनेश कार्तिक या युवराज सिंह के सवाल पर मदन लाल साफ-साफ कहते है कि युवराज सिंह बड़े खिलाड़ी हैं. इसके अलावा युवराज सिंह महेंद्र सिंह धोनी के साथ मिलकर मध्यम क्रम को बेहद मज़बूती देते हैं.

'उस देश का वासी हूं, जिस देश में सचिन बहता है'

महिला क्रिकेट टीम का अगला मिशन वर्ल्ड कप

इमेज कॉपीरइट Getty Images
Image caption युवराज सिंह

पाकिस्तानी टीम

मैच के परिणाम को लेकर मदनलाल का मानना है- "भारत भले ही मज़बूत टीम है लेकिन इस हाई वोल्टेज मुक़ाबले में पाकिस्तान को भी कमज़ोर नहीं मानना चाहिए. जब तक जीत मिल ना जाए तब तक इंतज़ार करना चाहिए. रही बात पाकिस्तान की तो उसने भी अभ्यास मैच में बांग्लादेश को 2 रन से मात दी."

पाकिस्तान का दारोमदार अहमद शहज़ाद, मोहम्मद हफीज़, अनुभवी शोएब मलिक और कप्तान सरफराज़ अहमद के अलावा गेंदबाज़ी में जुनैद खान, इमाद वसीम, वहाब रियाज़ पर होगा.

वैसे गेंदबाज़ों में परिवर्तन भी हो सकता है. साल 2002 में श्रीलंका में आयोजित हुई चैंपियंस ट्रॉफी में भारत और श्रीलंका पहली बार संयुक्त विजेता बने.

इस आईपीएल की 5 सबसे किफ़ायती खोज

मुंबई को चैंपियन बनाने वाले क्रुणाल पांड्या

Image caption शोएब मलिक

भारत ने साल 2009 में इंग्लैंड में हुई चैपियंस ट्रॉफी को अपने नाम किया था. महेंद्र सिंह धोनी की कप्तानी में भारत ने फाइनल में इंग्लैंड को पांच रन से हराया था.

अब देखना है कि जीत के साथ कौन सुपरसंडे मनाता है.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)