भारत से करारी हार के बाद पाकिस्तान का उलटफेर

इमेज कॉपीरइट Getty Images
Image caption डुमिनी का विकेट लेने के बाद हसन अली

पाकिस्तान ने दक्षिण अफ़्रीका को हराकर चैंपियंस ट्रॉफ़ी में अपनी उम्मीदें बनाए रखी हैं.

बारिश के खलल के बीच बर्मिंघम के मैदान पर खेले गए डे-नाइट मुक़ाबले में पाकिस्तान ने दक्षिण अफ़्रीका को डकवर्थ लुइस नियम के तहत 19 रनों से हरा दिया.

पाकिस्तान की इस जीत के बाद सबकी निगाहें आज होने वाले भारत-श्रीलंका मुक़ाबले पर लगी हैं. अगर श्रीलंका यह मैच जीत गया तो भारत की मुश्किलें बढ़ सकती हैं.

पिछले मैच में भारत के ख़िलाफ़ करारी हार से उबरते हुए पाकिस्तानी टीम ने बढ़िया खेल दिखाया और पहले खेलने उतरी दक्षिण अफ़्रीकी टीम को 50 ओवरों में महज़ 219 रनों पर रोक दिया.

पाकिस्तान की तरफ़ से हसन अली ने तीन विकेट लेकर दक्षिण अफ्रीकी बल्लेबाज़ी के मध्यक्रम की रीढ़ तोड़ दी.

पढ़ें: पाकिस्तानी क्रिकेट: जानलेवा बीमारी का इलाज सिरदर्द की गोली से

इमेज कॉपीरइट Getty Images

बाएं हाथ के स्पिनर इमाद वसीम ने एबी डिविलियर्स समेत दो विकेट लिए. अली ने 3 और वसीम ने 2.5 की इकॉनमी से रन दिए.

खब्बू बल्लेबाज़ डेविड मिलर को छोड़ दक्षिण अफ़्रीका का कोई खिलाड़ी मजबूती से पाकिस्तानी गेंदबाज़ों का सामना नहीं कर सका. उन्होंने 104 गेंदों में 75 रन बनाए. दक्षिण अफ्रीकी बल्लेबाज़ 50 ओवरों में सिर्फ 12 बार गेंद को सीमा पार पहुंचा सके.

लक्ष्य का पीछा करने उतरी पाकिस्तानी टीम ने भी 41 रनों पर दो विकेट खो दिए थे, लेकिन बाबर आज़म और शोएब मलिक की साझेदारी से उन्होंने 27 ओवरों में तीन विकेट खोकर 119 रन बना लिए. इसके बाद मैच बारिश की वजह से रुक गया. डकवर्थ लुइस नियम के तहत पाकिस्तान को मैच जीतने के लिए 27 ओवरों में ही 101 रन बनाने थे.

पढ़ें: भारत-पाक वनडे: कहाँ और कैसे चूका पाकिस्तान?

इमेज कॉपीरइट Getty Images
Image caption शोएब मलिक

वनडे रैंकिंग में दक्षिण अफ़्रीका पहले और पाकिस्तान आठवें स्थान पर है और इस लिहाज़ से इसे उलटफ़ेर भी कहा जा सकता है.

चैंपियंस ट्रॉफी के ग्रुप बी में दक्षिण अफ्रीका और पाकिस्तान अपने दो में से एक मुकाबले जीत चुके हैं. भारत ने अपना एक मुक़ाबला जीता है और श्रीलंका अपना एक मुक़ाबला हार चुका है.

आज भारत और श्रीलंका के बीच ओवल के मैदान पर मुक़ाबला होगा.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

मिलते-जुलते मुद्दे