फ़ाइनल से पहले पाकिस्तान में कप्तान पर विवाद

सरफ़राज़ अहमद इमेज कॉपीरइट Getty Images
Image caption पाकिस्तान क्रिकेट टीम के कप्तान सरफ़राज़ अहमद

पाकिस्तान और भारत के बीच 18 जून को आईसीसी चैम्पियंस ट्रॉफ़ी का फाइनल मैच होने वाला है. फाइनल मैच से पहले पाकिस्तान के पूर्व क्रिकेटर और पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड के पूर्व मुख्य चयनकर्ता आमिर सुहैल ने एक विवाद खड़ा कर दिया है.

सुहैल ने टीवी पर पाकिस्तानी कप्तान सरफ़राज़ अहमद की आलोचना की थी.

श्रीलंका और पाकिस्तान के बीच मैच के बाद विश्लेषण में सुहैल ने सरफ़राज़ की आलोचना करते हुए कहा था कि नए कप्तान अपने में मस्त हैं. वह बस कप्तान बन गए हैं.

10 साल बाद फ़ाइनल में टकराएँगे भारत-पाकिस्तान

भारत-पाक वनडे: कहाँ और कैसे चूका पाकिस्तान?

भारत बनाम पाकिस्तान: दीवानगी जो जुनून में बदल जाती है

इमेज कॉपीरइट Getty Images
Image caption आमिर सुहैल

सुहैल ने कहा, ''अगर आप ग़लत करेंगे तो हमलोग उसे इंगित करेंगे. इसी तरह आप सही करेंगे तो हम इसकी तारीफ़ करेंगे. इसी तरह आप कुछ सही करने के लिए ग़लत करते हैं तब भी बोलेंगे.''

सुहैल ने सरफ़राज़ के बार में कहा कि उन्होंने कुछ भी स्पेशल नहीं किया है. उन्होंने कहा कि इस मैच को जीतने में क्या काम किया गया हमलोग को पता है. आमिर सुहैल ने समा टीवी से कहा कि पाकिस्तान मैच जीत रहा है तो अला ताला की दुआ से जीत रहा है.

सुहैल ने कहा, ''श्रीलंका से पाकिस्तान की जीत को सरफ़राज़ ने जावेद मियांदाद के जन्मदिन पर समर्पित करने से इनकार कर दिया और कहा कि वह बहुत आलोचना करते हैं. तभी मैंने कहा कि जिसे कप्तान बने जुम्मा-जुम्मा चार दिन हुए हैं वह ऐसा बोल रहा है.''

इमेज कॉपीरइट Getty Images

पाकिस्तान में सरफ़राज़ के बयान को लेकर फाइनल मैच से पहले काफ़ी विवाद हो गया है. पीसीबी चेयरमैन शहरयार ख़ान ने इस मामले में पाकिस्तान इलेक्ट्रॉनिक मीडिया रेग्युलेटरी अथॉरिटी के पास इस प्रकार की 'देशद्रोही टिप्पणी' दिखाने के लिए विरोध दर्ज कराया है.

पीसीबी ने एक प्रेस रिलीज़ जारी कर कहा है, ''एक हताश पूर्व क्रिकेटर ने उस कप्तान के ख़िलाफ़ बोला है जिसे पूरा देश एक अहम मैच से पहले समर्थन कर रहा है.''

पाकिस्तान के इस विवाद में पूर्व भारतीय कप्तान सौरभ गांगुल भी सामने आए हैं. उन्होंने आमिर सुहैल की टिप्पणी को बकवास क़रार दिया है.

इमेज कॉपीरइट Getty Images

इंडिया टुडे को दिए इंटरव्यू में गांगुली ने कहा, ''यह बिल्कुल बकवास है. कोई व्यक्ति अपने देश के लिए क्रिकेट खेल रहा है और कप्तानी कर रहा है तो उसकी प्रशंसा होनी चाहिए क्योंकि उसने टीम को फाइनल तक पहुंचाया है.''

सौरभ गांगुली ने पाकिस्तान की प्रशंसा करते हुए कहा, ''जहां कोई सपोर्ट नहीं है, कोई ढांचा नहीं है, फ़र्स्ट क्लास क्रिकेट नहीं है, जहां कोई अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट नहीं होता है, वह टीम दक्षिण अफ़्रीका, श्रीलंका और इंग्लैंड को पीछे छोड़ फाइनल में जगह बनाता है.''

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

मिलते-जुलते मुद्दे