पाकिस्तानी कोच को क्यों है फ़ाइनल जीतने का भरोसा?

इमेज कॉपीरइट Getty Images

आईसीसी चैपियंस ट्रॉफ़ी के फ़ाइनल में रविवार को भारत का मुक़ाबला पाकिस्तान से होने वाला है. इस अहम मुक़ाबले के लिए पाकिस्तानी टीम लंदन में अभ्यास कर रही है.

टूर्नामेंट के ग्रुप मैच में भारत ने पाकिस्तान को 124 से क़रारी शिकस्त दी थी. लेकिन फ़ाइनल में टीम जीत के इरादे से उतरना चाहेगी.

लेकिन इस हार के बाद से पाकिस्तान ने आश्चर्यजनक रूप से अपने से ऊंची रैकिंग रखने वाली टीमों को एक के बाद करके हराया और फ़ाइनल में जगह बना ली.

यह पहला मौक़ा है जब भारत और पाकिस्तान की टीमें आईसीसी के किसी एक दिवसीय मुक़ाबले में आमने-सामने हैं.

10 साल बाद फ़ाइनल में टकराएँगे भारत-पाकिस्तान

भारत-पाक वनडे: कहाँ और कैसे चूका पाकिस्तान?

शुक्रवार को लंदन के ओवल स्टेडियम में पाकिस्तान की टीम ने गेंदबाज़ी, बल्लेबाज़ी और क्षेत्ररक्षण का भरपूर अभ्यास किया.

Image caption पाकिस्तानी टीम के कोच अज़हर महमूद को अपनी टीम की जीत का भरोसा है

अभ्यास के बाद पाकिस्तान के गेंदबाज़ी कोच अज़हर महमूद ने बीबीसी से बात की. उन्होंने कहा, "अगर हम अपनी योजना के तहत खेले तो इस बार भारत के ख़िलाफ़ मैच का नतीजा अलग होगा."

अज़हर महमूद ने कहा कि भारत के ख़िलाफ़ पाकिस्तानी खिलाड़ियों को मिलने वाले हर मौके का फ़ायदा उठाना होगा.

उन्होंने कहा, "जब आप विराट कोहली और युवराज सिंह जैसे खिलाड़ियों को चांस दे देते हैं तो वो आप पर पूरी तरह हावी हो जाते हैं और आपको मैच में वापसी का मौका नहीं देते."

'हम यहां जीतने के लिए आए हैं'

उन्होंने कहा, "हमारी टीम युवा है और हम यहां जीतने ही आएं हैं. हम फ़ाइनल जीत कर लोगों को ईद का तोहफ़ा देंगे."

अपनी टीम की गेंदबाज़ी के बारे में उन्होंने कहा, "पाकिस्तान के पास पारी की शुरुआत करने के लिए स्ट्राइक गेंदबाज़ हैं और हसन अली के रूप में ऐसा गेंदबाज़ भी है जो पारी के मध्य में विकेट ले सकता है."

पाकिस्तान के युवा गेंदबाज़ हसन अली आईसीसी चैपियंस ट्राफ़ी के सबसे सफल गेंदबाज़ हैं. उन्होंने चार मैचों में अब तक दस विकेट ले लिए हैं. द ओवल स्टेडियम में तेज़ गेंदबाज़ मोहम्मद आमिर ने भी अभ्यास में ख़ूब पसीना बहाया.

इमेज कॉपीरइट PCB FACECBOOK

आमिर इंग्लैंड के ख़िलाफ़ सेमीफ़ाइनल में कमर में दर्द की वजह से नहीं खेल पाए थे. हालांकि अभी ये भी स्पष्ट नहीं है कि उन्हें फ़ाइनल मुकाबले में अंतिम 11 खिलाड़ियों में जगह दी जाएगी या नहीं.

इस बारे में अज़हर महमूद का कहना था कि अच्छी बात ये है कि इस बार टीम में दूसरे खिलाड़ी भी मौजूद हैं और जिस तरह रोमान रईस ने सेमीफ़ाइनल में गेंदबाज़ी की वो ये बताया है कि हम आसानी से दूसरा गेंदबाज़ टीम में ला सकते हैं.

पाक खिलाड़ियों के हौसले बुलंद

पाकिस्तान की टीम ने टूर्नामेंट के अहम मोड़ पर अपनी फ़ार्म वापस की है और अब दर्शक भी आशावादी हैं कि ये टीम जीत दिलाने में सक्षम है.

ओवल क्रिकेट स्टेडियम से बीबीसी उर्दू के फ़ेसबुक लाइव में बात करते हुए पाकिस्तान के निजी टीवी चैनल जियो से जुड़े पत्रकार फ़ैज़ान लखानी का कहना था कि पाकिस्तान ने जिस तरह दक्षिण अफ्रीका, श्रीलंका और इंग्लैंड को हराया है उसके बाद खिलाड़ियों के हौसले बुलंद हैं.

इमेज कॉपीरइट PCB FACEBOOK

फ़ैज़ान लखानी का कहना था कि इस टीम ने जिस तरह रैकिंग में अपने से ऊपर रहने वाली टीमों को चारों खाने चित्त किया है उसके बाद से अब इस टीम को हराना मुश्किल ही नहीं नामुमकिन हो गया है.

इसी फ़ेसबुक लाइव में भारतीय खेल पत्रकार विनोद लांबा ने कहा कि उन्हें लगता है कि भारत के ख़िलाफ़ पाकिस्तान का जीतना मुश्किल है.

विनोद लांबा ने कहा, "आप ख़ुद ही मानते हैं कि भारत के ख़िलाफ़ खेलते हुए पाकिस्तानी टीम ड्रेसिंग रूम से ही दबाव में निकलती है."

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

मिलते-जुलते मुद्दे