खेल मंत्री के ख़िलाफ़ टिप्पणी कर फंसे लसिथ मलिंगा

इमेज कॉपीरइट Getty Images
Image caption लसिथ मलिंगा

श्रीलंकाई तेज़ गेंदबाज़ लसिथ मलिंगा अपने देश के खेल मंत्री के ख़िलाफ़ टिप्पणी करके फंस गए हैं. अब उनके ख़िलाफ श्रीलंका क्रिकेट (एसएलसी) एक अनुशासनात्मक जांच करने जा रहा है.

इस मामले की जांच क लिए बोर्ड ने एक तीन सदस्यीय समिति बनाई है. एसएलसी के सचिव मोहन डिसिल्वा और सीईओ ऐश्ले डिसिल्वा भी इस समिति के सदस्य हैं.

हालांकि श्रीलंका क्रिकेट के चेयरमैन थिलंगा सुमतिपाला ने कहा कि इसका मेहमान ज़िम्बाब्वे टीम के ख़िलाफ़ आगामी वनडे मैच में मलिंगा के खेलने पर कोई फ़र्क नहीं पड़ेगा.

30 जून और 2 जुलाई को ज़िम्बाब्वे के ख़िलाफ होने वाले दो वनडे मैचों की टीम लसिथ मलिंगा भी शामिल हैं.

खेल मंत्री ने उठाए थे खिलाड़ियों की फ़िटनेस पर सवाल

चैंपियंस ट्रॉफ़ी से लौटने के बाद मलिंगा दो बार समझौतों की शर्तों का उल्लंघन कर चुके हैं. जबकि एसएलसी के सीईओ से मंजूरी लिए बग़ैर किसी श्रीलंकाई खिलाड़ी को इस तरह के बयान देने के इजाज़त नहीं है.

इमेज कॉपीरइट Getty Images

समाचार एजेंसी पीटीआई के मुताबिक, चैंपियंस ट्रॉफ़ी से श्रीलंका के बाहर होने के बाद जयशेखरा ने सार्वजनिक तौर पर खिलाड़ियों की फ़िटनेस पर सवाल उठाया था और यह भी कहा था कि आगे फ़िटनेस का ख़्याल रखते हुए खिलाड़ी चुने जाएंगे.

चैंपियंस ट्रॉफ़ी के अपने मैचों में श्रीलंकाई खिलाड़ियों की फ़ील्डिंग अच्छी नहीं थी और उन्होंने कुछ कैच छोड़े थे. जयशेखरा ने ख़राब फ़िटनेस को इसकी वजह बताया था.

इसके बाद मलिंगा ने सार्वजनिक तौर पर खेल मंत्री के क्रिकेट ज्ञान का मज़ाक उड़ाया और कहा कि कैच किसी भी खेल में छूट सकते हैं.

उन्होंने यह भी कहा कि जब श्रीलंका ने भारत को हराया था, तब किसी ने फ़िटनेस पर सवाल नहीं उठाए थे.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

मिलते-जुलते मुद्दे