विराट कोहली के शतक से सचिन तेंदुलकर का एक और रिकॉर्ड धड़ाम

इमेज कॉपीरइट Getty Images

जमैका के सबीना पार्क स्टेडियम में विराट कोहली ने एक बार फिर से ये दिखाया कि क्यों उन्हें मौजूदा दौर का जीनियस बल्लेबाज़ माना जाता है.

वेस्टइंडीज़ के सामने जीत के लिए 206 रनों के लक्ष्य का पीछा करने उतरी टीम इंडिया का पहला विकेट महज पांच रन पर गिर गया था. शिखर धवन के पवेलियन लौटने के बाद विराट कोहली क्रीज़ पर उतरे.

अगर कोहली सस्ते में आउट हो जाते तो टीम इंडिया दबाव में आ जाती, एंटीगा वनडे में टीम इंडिया 190 रनों का लक्ष्य हासिल नहीं कर पाई थी. कोहली का इसका अंदाजा था और ये सिरीज़ का निर्णायक वनडे भी था.

भारत ने वेस्टइंडीज़ से सिरीज़ जीती

कोहली इसी रफ़्तार से शतक बनाते रहे तो...

लिहाज़ा उन्होंने वो कारनामा कर दिखाया, जिसके लिए वे जाने जाते रहे हैं. कोहली ने 115 गेंदों पर 12 चौके और दो छक्के की मदद से नाबाद 111 रन बनाकर मैच के साथ साथ टीम इंडिया को सिरीज़ भी दिला दी.

करीब छह महीने और 11 वनडे पारियों के बाद कोहली का ये शतक उनके करियर का 28वां शतक है. वनडे में शतक बनाने के लिहाज से वे संयुक्त रूप से तीसरे नंबर पर हैं. सचिन तेंदुलकर के 49 और रिकी पॉन्टिंग के 30 शतकों के बाद.

कोहली ने अपने 28 शतक के लिए 181 पारियां खेली हैं, जबकि सनथ जयसूर्या को इतने ही शतक के लिए 433 पारियां खेलनी पड़ी थीं.

इमेज कॉपीरइट Getty Images

ये भी साफ़ है कि विराट कोहली दो वनडे शतक बाद वे सचिन तेंदुलकर के वनडे शतकों के रिकॉर्ड की तरफ़ क़दम बढ़ाना शुरू कर देंगे, जिसे चुनौती देता कोई बल्लेबाज़ नज़र नहीं आ रहा है.

वैसे अपने इस शतक के साथ कोहली से सचिन के एक करिश्मे को पीछे छोड़ दिया है. कोहली ने रनों का पीछा करते हुए अपना 18वां शतक पूरा किया है. रनों का पीछा करते हुए सर्वाधिक शतकों का रिकॉर्ड अब तक सचिन तेंदुलकर के नाम था, जिन्होंने 17 बार ये कारनामा दिखाया था.

कोहली का कारनामा

हालांकि रनों का पीछा करते हुए सर्वाधिक रन बनाने के मामले में तेंदुलकर अभी भी नंबर वन बने हुए हैं. वनडे की दूसरी पारी में बैटिंग करते हुए तेंदुलकर के नाम 232 पारियों में 8720 रन हैं.

इस सूची में विराट कोहली महज 102 पारियों में 5169 रन के साथ फिलहाल सातवें पायदान पर हैं. इस सूची में सनथ जयसूर्या 210 पारियों में 5742 रन के साथ दूसरे पायदान पर हैं और विराट कोहली उससे बहुत दूर नहीं हैं.

इमेज कॉपीरइट Getty Images

ऐसे में विराट कोहली अगर इसी रफ़्तार से शतक बनाते रहे तो आने वाले दिनों में वनडे क्रिकेट में शतकों के तमाम रिकॉर्ड अपने नाम कर सकते हैं.

वैसे गौर करने वाली बात ये भी है कि विराट कोहली ने रनों का पीछा करते हुए जो 18 शतक बनाए हैं, उनमें 16 बार टीम इंडिया जीत हासिल करने में कामयाब रही है.

ये दर्शाता है कि विराट कोहली चुनौतियों और दबाव के सामने घबराते नहीं बल्कि खूंटा गाड़कर क्रीज़ पर टिक जाते हैं और टिकने के साथ ही उनका बल्ला आंकड़ों के ग्राफ़ को बदलने लगता है.

इस क्रम में धुरंधर पीछे छूटते जा रहे हैं और विराट कोहली कामयाबी का नया आसमान बनाते जा रहे हैं.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

मिलते-जुलते मुद्दे