चीनी मुक्केबाज़ पर भारी पड़े विजेंदर

इमेज कॉपीरइट AFP

भारत के मुक्केबाज़ विजेंदर सिंह ने शनिवार को मुंबई में अपने दमदार पंच के जरिए चीन के मुक्केबाज़ जुल्पीकार मैमैतियाली को अंकों के आधार पर मात दे दी.

मुक़ाबला बेहद कड़ा था और इसमें जीत दर्ज़ करने के लिए विजेंदर को रिंग में ख़ासी मशक्कत करनी पड़ी.

जुल्पीकार के एक पंच से उनकी नाक पर भी चोट लगी. खून बहने लगा लेकिन विजेंदर ने हौसला बरकरार रखते हुए जीत हासिल की.

मैच के बाद विजेंदर ने विरोधी मुक्केबाज़ की तारीफ करते हुए कहा, "मैंने सोचा था कि चीनी माल ज्यादा नहीं चलेगा लेकिन इसने मुझे सरप्राइज़ किया.... सरप्राइज़"

ये विजेंदर का नवां पेशेवर मुक़ाबला था.

इस मैच में दांव पर दो ख़िताब थे. एशिया पैसेफिक सुपर मिडिलवेट और ओरिएंटल सुपरमिडिलवेट.

विजेंदर फिर जीते, हुसीनोव को धो डाला

इमेज कॉपीरइट Getty Images

विजेंदर और जुल्पीकार के बीच मुक्केबाज़ी के मुक़ाबले को 'बैटल ग्राउंड एशिया' का नाम दिया गया था.

10 राउंड तक चला ये मुक़ाबला कितना नजदीकी रहा इसका अंदाज़ा स्कोर के जरिए लगाया जा सकता है.

तीन जज़ों ने 96-93, 95-94 और 95-94 के करीबी अंतर से ये मुक़ाबला भारतीय मुक्क़ेबाज विजेंदर के पक्ष में घोषित किया.

विजेंदर ने इस मैच के लिए कड़ा अभ्यास किया था.

बीजिंग ओलंपिक में कांस्य पदक हासिल करने वाले विजेंदर ने अब तक पेशेवर मुक्क़ेबाज़ी में कोई मैच नहीं गंवाया है.

इस मैच के पहले तक उन्होंने आठ में से सात मुक़ाबलों में नॉकआउट जीत हासिल की थी.

चीका को नॉक आउट कर विजेंदर ने बचाए रखा खिताब

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

मिलते-जुलते मुद्दे