रवींद्र जडेजा को मिली सज़ा, अंतिम टेस्ट से निलंबित

रवींद्र जडेजा इमेज कॉपीरइट Getty Images

कोलंबो टेस्ट में पारी की जीत के हीरो रहे रवींद्र जडेजा अगला मैच नहीं खेल सकेंगे. जडेजा को आईसीसी की आचार संहिता का उल्लंघन करने के लिए एक टेस्ट मैच से निलंबित कर दिया गया है.

कोलंबो टेस्ट मैच के रेफ़री रिची रिचर्ड्सन ने जडेजा को ये सजा सुनाई है, जिसे जडेजा ने स्वीकार कर लिया है. श्रीलंका के ख़िलाफ़ तीसरा टेस्ट मैच पलेकल में 12 से 16 अगस्त तक खेला जाएगा.

रवींद्र जडेजा ने कोलंबो टेस्ट की दूसरी पारी में पांच विकेट लिए और श्रीलंका को 386 रन के स्‍कोर पर समेट कर टीम इंडिया को पारी और 53 रनों से मिली जीत में अहम भूमिका निभाई.

उन्होंने भारत की इकलौती पारी में 70 रन भी बनाए थे. किसी टेस्ट में अर्धशतक बनाने के साथ साथ पारी में पांच विकेट झटकने वाले वे महज दूसरे भारतीय क्रिकेटर बन गए हैं. इस शानदार प्रदर्शन के चलते उन्हें मैन ऑफ़ द मैच घोषित किया गया.

तीन टेस्ट मैचों की सीरीज में भारत ने 2-0 से अजेय बढ़त हासिल कर ली है.

ICC रैंकिंग में रवींद्र जडेजा टॉप पर

पहला टेस्टः भारत ने श्रीलंका को 304 रनों से हराया

दूसरा टेस्टः श्रीलंका पर पारी और 53 रनों से मिली जीत

इमेज कॉपीरइट Getty Images

क्यों लगा प्रतिबंध?

जडेजा पर दूसरे टेस्ट मैच के तीसरे दिन यानी शनिवार को गेंदबाजी के दौरान श्रीलंकाई बल्लेबाज़ पर क्रीज़ न छोड़ने के बावज़ूद ख़तरनाक तरीके से स्टम्प्स पर गेंद मारने का आरोप है.

अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट परिषद (आईसीसी) ने जानकारी दी कि, मैदान पर मौज़ूद अंपायरों ने इस व्यवहार को जानलेवा क़रार दिया, क्योंकि यह गेंद उस समय पिच पर खड़े दिमुथ करुणारत्ने के बिल्कुल पास से होकर गुजरी थी. इस पारी में करुणारत्ने ने 141 रन बनाए और कुशल मेंडिस (110) के साथ मिलकर हार के अंतर को कम करने में सफल रहे.

इमेज कॉपीरइट Getty Images

क्या है धारा 2.2.8

जडेजा को आईसीसी के कोड ऑफ़ कंडक्ट की धारा 2.2.8 के उल्लंघन का दोषी पाया गया है. इसका मतलब है कि मैच के दौरान गेंद या कोई अन्य वस्तु जैसे की पानी की बोतल आदि अनुचित या ख़तरनाक तरीके से किसी खिलाड़ी, खिलाड़ी के समर्थक, अंपायर या मैच रेफ़री की ओर फेंकना ग़लत है.

इमेज कॉपीरइट Getty Images

आधी मैच फ़ीस भी गई

इस निलंबन के कारण जडेजा पर उनकी मैच फीस का 50 फ़ीसदी जुर्माना भी लगा है और उनके खाते में तीन डी-मैरिट अंक जुड़ गए हैं. इससे पहले इंदौर में पिछले साल अक्टूबर में न्यूजीलैंड के ख़िलाफ़ मैच के दौरान उन पर आईसीसी के कोड ऑफ़ कंडक्ट की धारा 2.2.11 के उल्लंघन का दोषी पाया गया था.

इस निलंबन के बाद जडेजा के खाते में छह डी-मैरिट अंक हो गए हैं. अक्टूबर, 2018 तक में उनके खाते में यह अंक बढ़कर आठ हो जाते हैं, तो उन पर दो टेस्ट मैच या चार वनडे/ चार टी-20 ( जो पहले आए) में निलंबन का सामना करना होगा.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)