श्रीलंका जीतती तो आज हीरो होते धनंजय

इमेज कॉपीरइट Getty Images
Image caption अकिला धनंजय

श्रीलंका के पेल्लिकल इंटरनेशनल क्रिकेट स्टेडियम में खेले गए मैच में भारत ने दूसरे एक दिवसीय मैच में श्रीलंका को हरा दिया.

लेकिन मैच में एक समय ऐसा भी आया जब श्रीलंकाई आलराउंडर अकिला धनंजय ने भारतीय जीत के मंसूबे पर लगभग पानी फेर दिया था.

दूसरा वन डेः धोनी-भुवनेश्वर के धमाल से जीता भारत

अपना तीसरा वनडे मैच खेल रहे धनंजय ने महज़ पांच ओवर में 6 विकेट लेकर भारतीय पारी की कमर तोड़ दी थी.

24 साल के धनंजय आईपीएल में चेन्नई सुपर किंग्स की ओर से भी खेल चुके हैं.

वो ऑलराउंडर हैं और बाएं हाथ से बल्लेबाज़ी करते हैं. हालांकि इस मैच में उन्होंने महज 9 रन बनाए, लेकिन दाहिने हाथ से ऑफ़ब्रेक गेंदबाज़ी करने वाले धनंजय ने अपनी गेंदबाज़ी से सबको चौंका दिया.

131 रनों के लक्ष्य का पीछा करती हुई, रोहित शर्मा और शिखर धवन की भारतीय सलामी बल्लेबाजी जोड़ी जब एक मजबूत स्कोर की ओर बढ़ रही थी तो धनंजय ने रोहित शर्मा को बोल्ड किया.

इसके बाद अगले पांच ओवरों में उन्होंने ताबड़तोड़ पांच विकेट झटके. एक समय ऐसा लग रहा था कि भारत हार जाएगा. सिर्फ 21.5 ओवरों में भारत ने 131 रनों पर 7 विकेट खो दिए थे.

इमेज कॉपीरइट Reuters
Image caption भुवनेश्वर और धोनी

लेकिन इसके बाद भारत के पूर्व कप्तान और अनुभवी खिलाड़ी महेंद्र सिंह धोनी क्रीज़ पर उतरे और उन्होंने भुनेश्वर कुमार के साथ टिककर बल्लेबाज़ी की और 100 रनों की महत्वपूर्ण साझेदारी कर भारत को जीत की दहलीज़ पर पहुंचा दिया.

भले ही भारत की जीत के सामने धनंजय की शानदार गेंदबाज़ी धूमिल पड़ गई हो, लेकिन अगर श्रीलंका जीत जाता तो आज अकिला धनंजय इस मैच के हीरो होते.

कभी-कभी किसी खिलाड़ी का शानदार प्रदर्शन भी उसे वो हक़ नहीं दिलवा पाता जिसका वो हक़दार होता है. आज धनंजय शायद इस बात को महसूस कर रहे होंगे.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

मिलते-जुलते मुद्दे