विराट कोहली और टीम इंडिया ने श्रीलंका के लिए नया सिरदर्द पैदा किया

कोहली और श्रीलंका इमेज कॉपीरइट AFP

श्रीलंका में खेल रही भारतीय टीम इस वक़्त धमाकेदार फॉर्म में नज़र आ रही है और मेज़बान का बुरा हाल है.

टेस्ट सिरीज़ में सूपड़ा साफ़ करने के बाद वनडे सिरीज़ में भी टीम इंडिया ने श्रीलंकाई खिलाड़ियों का पसीना निकाला हुआ है और वो 5 मैचों की सिरीज़ में 4-0 से आगे चल रही है.

कोहली-रोहित के कमाल से जीता भारत

क्रिकेट मैच में घुसा तीर

कोलंबो में खेले गए चौथे वनडे में भारत ने 168 रनों से बड़ी जीत दर्ज की है.

श्रीलंका का ख़्वाब टूटा

इमेज कॉपीरइट Getty Images

कप्तान विराट कोहली और रोहित शर्मा के आक्रामक शतकों की बदौलत भारत ने 375 रनों का विशाल स्कोर खड़ा किया था और श्रीलंका की पूरी टीम 207 रनों पर ढेर हो गई.

लेकिन हार के सिलसिले की इस ताज़ा कड़ी ने सिर्फ़ श्रीलंका को शर्मसार ही नहीं किया बल्कि उसके लिए बड़ा सिरदर्द पैदा कर दिया है.

इस हार ने ये तय कर दिया कि श्रीलंका ख़ुद-ब-ख़ुद (ऑटोमेटिक क्वालिफ़िकेशन) साल 2019 में खेले जाने वाले आईसीसी वर्ल्ड कप क्रिकेट के लिए क्वालीफ़ाई नहीं कर सकेगी.

ऐसा करने के लिए उसे पांच मैचों की सिरीज़ में कम से कम दो मैच जीतने थे.

अब वेस्टइंडीज़ पर निगाहें

इमेज कॉपीरइट Getty Images

1996 में विश्व कप जीतने वाली श्रीलंकाई टीम को 30 मई से 15 जुलाई के बीच खेले जाने वाले आगामी वर्ल्ड कप में हिस्सा लेने के लिए वेस्टइंडीज़ के ख़राब प्रदर्शन पर निर्भर करना पड़ेगा.

इस विश्व कप का मेज़बान इंग्लैंड है और उसके अलावा 30 सितंबर को रैंकिंग में शीर्ष सात स्थान हासिल करने वाली टीमों को इस वर्ल्ड कप में सीधा जाने का मौका मिलेगा.

इसके लिए अब श्रीलंका को इंतज़ार करना होगा. भारत के 4-0 से सिरीज़ जीतने के बाद अब निगाहें वेस्टइंडीज़ पर होंगी. इंग्लैंड में होने वाली वनडे सिरीज़ में अगर वो कोई मैच हारता है तो श्रीलंका को मौका मिलेगा.

श्रीलंका क्वालीफाइंग टूर्नामेंट खेलेगी?

इमेज कॉपीरइट Getty Images

ऐसा इसलिए कि अगर श्रीलंका रविवार को होने वाला इस सिरीज़ का आख़िरी मैच जीत भी जाता है तो अंक तालिका में उसके हिस्से 88 पॉइंट आएंगे लेकिन वो ऑटोमेटिक क्वालिफ़िकेशन के लिए काफ़ी नहीं हैं.

जिन टीमों को वर्ल्ड कप में सीधा जाने का मौक़ा नहीं मिलता, उन्हें क्वालीफ़ाइंग टूर्नामेंट में हिस्सा लेकर इस बड़े क्रिकेट समारोह में जाने की कोशिश करनी होती है.

इस टूर्नामेंट में आम तौर पर कमज़ोर टीमें हिस्सा लेती हैं. और अगर वेस्टइंडीज़ आगे जीत दर्ज करती है और श्रीलंका को क्वालीफ़ाइंग दौर से गुज़रना होता है तो किसी वक़्त सबसे मज़बूत टीमों में गिने जानी वाली टीम के लिए ये काफ़ी अजीब बात होगी.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

मिलते-जुलते मुद्दे