अब होगी टेस्ट मैचों की वर्ल्ड चैंपियनशिप

टीम इंडिया, आईसीसी इमेज कॉपीरइट Getty Images

अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट काउंसिल (ICC) ने टेस्ट चैंपियनशिप और अंतरराष्ट्रीय वन-डे लीग की योजनाओं पर मुहर लगा दी है.

9 टीमें दो साल में टेस्ट मैचों की छह सिरीज़ खेलेंगी, इमें से तीन घरेलू मैदान पर होंगी और तीन विदेशी धरती पर और आख़िर में वर्ल्ड टेस्ट चैंपियनशिप का फ़ाइनल होगा.

13 टीमों की वनडे लीग की शुरुआत 2021 से होगी, जिसके जरिए अब से वर्ल्ड कप के लिए टीमें क्वालिफ़ाई कर सकेंगी.

आईसीसी ने चार दिवसीय टेस्ट मैचों के ट्रायल के लिए भी मंजूरी दी है.

आईसीसी के मुख्य कार्यकारी अधिकारी डेविड रिचर्डसन ने कहा, ''टेस्ट क्रिकेट के भविष्य को लेकर हो रही तमाम चर्चाओं से यह साफ़ हुआ है कि हमें विकल्पों और ट्रायल की शुरुआत करनी चाहिए जो भविष्य में टेस्ट क्रिकेट को चलन में बनाए रख सकें.''

जब युवी की पहली सेंचुरी के बाद सिक्सर हुआ बैन!

जब एक लाख दर्शकों को भी हराया था भारतीय टीम ने

इमेज कॉपीरइट Getty Images

टेस्ट में वर्ल्ड चैंपियन का फ़ैसला?

2019 वर्ल्ड कप के बाद शुरू होने वाली टेस्ट चैंपियनशिप का उद्देश्य क्रिकेट के इस संस्करण में लोगों की दिलचस्पी बनाए रखना है.

हर सिरीज़ में कम से कम दो मैच होंगे जो पांच दिनों तक खेले जाएंगे लेकिन एशेज जैसी सिरीज़ में मैचों की संख्या पांच हो सकती है.

दो शीर्ष टीमें अप्रैल 2021 में प्लेऑफ़ में खेलेंगी. फ़ाइनल मुक़ाबला दो महीने बाद इंग्लैंड में होगा.

ज़िम्बाब्वे, अफ़ग़ानिस्तान और आयरलैंड शुरुआत में टेस्ट चैंपियनशिप से बाहर रहेंगे लेकिन चार दिवसीय टेस्ट सिरीज़ में हिस्सा लेने से उनका टेस्ट मैचों का अनुभव बेहतर होगा.

टेस्ट के लिए ऐसी लीग की चर्चा काफ़ी समय से हो रही है. 2016 में रिचर्डसन ने कहा था कि ये लीग असली टेस्ट चैंपियन बनाने में मदद करेगी. दर्शकों की संख्या बढ़ाने के उद्देश्य से दिन-रात के टेस्ट मैच कराने की शुरुआत हुई है.

चार दिवसीय टेस्ट मैच

वर्ल्ड कप तक चार दिवसीय टेस्ट मैचों का ट्रायल होगा जिसकी मेज़बानी इंग्लैंड करेगा. दक्षिण अफ़्रीका ने हाल ही में ज़िम्बाब्वे के ख़िलाफ़ दिसंबर में चार दिवसीय टेस्ट सिरीज़ खेलने देने की अपील की थी. उसके बाद जनवरी नें तीन टेस्ट मैचों की सिरीज़ भारत के साथ होगी.

रिचर्डसन ने कहा, ''चार दिवसीय टेस्ट मैचों की सिरीज़ होने से टेस्ट खेलने वाले नए देशों को भी बेहतर मौके मिलेंगे. इससे न सिर्फ उनका खेल बेहतर होगा बल्कि शीर्ष 9 टीमों और उनके बीच फ़ासला भी कम होगा.''

इमेज कॉपीरइट Getty Images

वनडे लीग का टीमों पर कैसा असर होगा?

सात शीर्ष वनडे टीमें विश्व कप के लिए सीधे क्वालिफ़ाई कर जाती हैं, इनके लिए कम रैंक वाली टीमों के साथ क्वालिफ़ाइंग टूर्नामेंट भी होते हैं.

नई लीग में 13 शीर्ष टीमें तीन साल में तीन मैचों की आठ सिरीज़ खेलेंगी.

आईसीसी चेयरमैन शशांक मनोहर ने कहा, ''द्विपक्षीय क्रिकेट में चुनौतियां नई नहीं हैं लेकिन पहली बार इनसे निपटने के लिए वास्तविक समाधान पर सहमति बनी है.''

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

मिलते-जुलते मुद्दे