कप्तान विराट कोहली की टेस्ट में छठी डबल सेंचुरी

विराट कोहली इमेज कॉपीरइट @BCCI

जगह बदली, लेकिन दिन वही था....इतवार. एक हफ्ते पहले ठीक इसी दिन भारतीय क्रिकेट टीम के कप्तान विराट कोहली ने संतरों की नगरी नागपुर में अपने करियर का पाँचवां दोहरा शतक लगाया था.

अभी मीडिया में उनके टेस्ट रिकॉर्ड्स को लेकर गुणा-भाग चल ही रहा था कि इतवार को ही दिल्ली के फ़िरोज़शाह कोटला मैदान में कोहली ने एक और दोहरा विराट शतक लगाकर टेस्ट क्रिकेट में नया इतिहास रच दिया.

कोहली की ये छठी डबल सेंचुरी थी और इस तरह वो टेस्ट इतिहास में सबसे ज़्यादा शतक बनाने वाले कप्तान बन गए हैं. इससे पहले बतौर कप्तान पाँच दोहरे शतक बनाने का रिकॉर्ड वेस्ट इंडीज़ के बाएं हाथ के बल्लेबाज़ ब्रायन लारा के नाम दर्ज था.

लगातार तीन टेस्ट मैचों में तीन शतक बनाने वाले भी कोहली पहले टेस्ट कप्तान हैं.

इमेज कॉपीरइट Getty Images

सहवाग, सचिन की बराबरी

29 साल के दाएं हाथ के बल्लेबाज़ कोहली ठीक दो साल बाद अपने घरेलू मैदान पर खेल रहे हैं. कोहली ने कोटला में पिछला टेस्ट दक्षिण अफ्रीका के ख़िलाफ़ खेला था. ये मुक़ाबला तीन दिसंबर से शुरू हुआ था. इस मैच में कोहली ने पहली पारी में 44 और दूसरी पारी में 88 रन बनाए थे.

कौन जाने, शायद तभी कोहली ने ठाना हो कि छोटी-मोटी पारियां बहुत हुईं और लंबी पारियां खेलने का इरादा पक्का किया हो.

इसके बाद अगले छह महीने तक भारतीय टीम टेस्ट क्रिकेट से दूर रही और कोहली वनडे और टी-20 में ही बल्ले का कमाल दिखाते रहे.

जुलाई 2016 में कोहली ने वेस्टइंडीज़ के ख़िलाफ़ सेंट पीटर्स के सर विवियन रिचर्ड्स स्टेडियम में अपने करियर का पहला दोहरा शतक जमाया. इससे पहले कि शेनन ग्रैबियल उनकी गिल्लियां उड़ाते कोहली 200 रन पूरे कर चुके थे.

कोलकाता में कोहली ने दिखाई विराट दरियादिली

धोनी की फॉर्म पर कोहली ने तोड़ी चुप्पी

जब गेंदबाज़ों की धुलाई नहीं करते तब क्या करते हैं विराट कोहली

इमेज कॉपीरइट Getty Images

इस बात को बीते 17 महीने हो चुके हैं और तब से लेकर अब तक कोहली नौ शतक लगा चुके हैं, जिनमें छह दोहरे शतक हैं.

कोटला में घरेलू दर्शकों के बीच कोहली का अंदाज़ देखने लायक था. उन्होंने श्रीलंका के किसी भी गेंदबाज़ को हावी होने का मौका नहीं दिया और मैदान पर चारों ओर जब और जैसे चाहा, शॉट मारे.

अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में 16 हज़ार से अधिक रन बना चुके कोहली ने छठी डबल सेंचुरी बनाकर वीरेंद्र सहवाग और सचिन तेंदुलकर की भी बराबरी हासिल की.

कोहली इन दिनों कितने प्रचंड फॉर्म में हैं - इस बात का अंदाज़ा इस बात से लगाया जा सकता है कि उन्होंने जो पिछले नौ शतक लगाए हैं उनमें से सात बार उन्होंने 150 रन से अधिक का आंकड़ा पार किया है.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)