सरीना बनीं विंबलडन चैम्पियन

सरीना विलियम्स और वीनस विलियम्स
Image caption सरीना ने अपनी बड़ी बहन वीनस को विंबलडन के फ़ाइनल में हरा कर ख़िताब जीता

सरीना विलियम्स ने अपनी बड़ी बहन वीनस को लगातार सेटों में 7-6, 6-2 से हराकर विंबलडन का महिलाओं का एकल ख़िताब जीत लिया.

सरीना का ये तीसरा विंबलडन और 11वाँ ग्रैंड स्लैम ख़िताब है. वो इससे पहले 2002 और 2003 में भी विंबलडन चैंपियन रह चुकी हैं. सेरेना ऑस्ट्रेलियन ओपन और यूएस ओपन ख़िताब भी जीत चुकी हैं. हल्की बारिश के बाद फ़ाइनल मुक़ाबला समय पर शुरू हुआ. इस मुक़ाबले से पहले दोनों बहनों के बीच हार-जीत का स्कोर 10-10 का था. शनिवार का मुक़ाबला इसलिए भी ख़ास रहा कि विलियम्स बहनें विंबलडन में चौथी बार फ़ाइनल में एक-दूसरे से टकरा रही थी.

टक्कर

पहले सेट में दोनों बहनों के बीच ज़ोरदार टक्कर हुई. 27 साल की सेरेना ने अपनी बहन की सर्व और वॉली का उतने ही असरदार तरीक़े से जवाब दिया.

6-6 की बराबरी के बाद आख़िरकार पहला सेट टाईब्रेकर में पहुंच गया. टाईब्रेकर में सेरेना ने धैर्य रखते हुए नियंत्रित शॉट्स खेले और 7-3 से गेम जीतकर सेट अपने नाम कर लिया. सेट जीतने के बाद तो सेरेना खूंखार हो गई और उन्होंने फिर अपनी बड़ी बहन को वापसी का मौका नहीं दिया. वीनस सिर्फ़ दो गेम ही जीत सकीं और ऑल इंग्लैंड क्लब में लगातार तीसरी और कुल मिलाकर छठी बार ट्रॉफ़ी चूमने का उनका सपना अधूरा ही रह गया. ख़िताबी जीत के बाद सरीना ने बीबीसी से कहा, "मैं बेहद रोमांचित हूँ. मुझे लग रहा है कि मैं अपनी ट्राफ़ी नहीं उठा रही हूँ, बल्कि वीनस की ट्रॉफ़ी उठा रही हूँ." वीनस ने कहा, "सरीना आज बहुत अच्छा खेली. उसके पास हर शॉट का ज़वाब था. मुझे नहीं लगता कि हार से मैं अभी बहुत दुखी हूँ, क्योंकि मैं अब भी मुस्करा रही हूँ."

संबंधित समाचार