डिग्री हासिल करने में पिछड़े माही

क्रिकेट के मैदान पर कई कठिन टेस्ट पास कर चुके भारतीय टीम के कप्तान महेंद्र सिंह धोनी को स्नातक यानी ग्रेजुएशन की डिग्री हासिल करने में वक़्त लग रहा है.

Image caption धोनी इस साल परीक्षा नहीं दे पाए थे

अंतरराष्ट्रीय मैचों के कारण महेंद्र सिंह धोनी बी कॉम की परीक्षा में नहीं बैठ पाए. इसका नतीजा ये हुआ कि राँची के प्रतिष्ठित सेंट ज़ेवियर कॉलेज ने उन्हें प्रोमोशन देने से इनकार कर दिया.

पिछले कुछ वर्षों से भारतीय क्रिकेट टीम की कमान संभाल रहे महेंद्र सिंह धोनी ने पिछले साल इस कॉलेज में नामांकन कराया था.

ये ज़रूर है कि कॉलेज प्रशासन ने उन्हें पढ़ाई के लिए क्लास में हमेशा आने से छूट दे रखी है.

कॉलेज के परीक्षा प्रमुख एके सिन्हा ने बताया, "वे बी कॉम पार्ट-वन की परीक्षा में शामिल नहीं हुए." धोनी ने पिछले साल पहले सेमेस्टर की परीक्षा भी छोड़ दी थी.

सेंट ज़ेवियर कॉलेज के डीन जयंत सिन्हा ने कहा, "जब एक परीक्षार्थी कॉपी लिखता है, तभी उसे पास या फ़ेल किया जा सकता है. धोनी के मामले में अहम बात ये है कि वे दोनों सेमेस्टर की परीक्षा में बैठ नहीं पाए."

धोनी ने क़रीब 10 साल पहले 10+2 की परीक्षा पास की थी.

संबंधित समाचार