बीसीसीआई का नियमों को मानने से इनकार

बीसीसीआई
Image caption बीसीसीआई का कहना है कि डोप परीक्षण निजी जिंदगी में हस्तक्षेप है

बीसीसीआई ने खिलाड़ियों के साथ देते हुए विश्व एंटी डोपिंग एजेंसी (वाडा) के नियमों को मानने से साफ़ इनकार कर दिया है.

बीसीसीआई का कहना है कि वह डोप परीक्षण के पक्ष में हैं लेकिन इसकी प्रक्रिया से सहमत नहीं है.

भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (बीसीसीआई) के अध्यक्ष शशांक मनोहर ने मुंबई में बीसीसीआई की बैठक के बाद पत्रकारों से बातचीत में कहा,'' हम खेल के दौरान किसी भी खिलाड़ी की जांच को लेकर सहमत है लेकिन जब हमारे खिलाड़ी क्रिकेट नहीं खेल रहे हो तो हम उनकी निजी जिंदगी में कोई दखल नहीं देना चाहते हैं.''

शशांक मनोहर ने कहा कि भारत में कुछ खिलाड़ियों को सुरक्षा मुहैया कराई गई है इसलिए सुरक्षा कारणों से उनकी मौजूदगी की जानकारी लेना संभव नहीं होगा.

साथ ही भारत में संविधान में हर नागरिक को निजता का अधिकार दिया हुआ है.

ग़ौरतलब है कि वाडा चाहता है कि खिलाड़ी अपने पूरे दिन में उन्हें बताएँ कि वे कहाँ हैं ताकि वाडा को उनकी ज़रूरत हो तो उनसे संपर्क स्थापित किया जा सके और वर्जित दवाओं के परीक्षण किया जा सके.

वाडा का कहना है कि खिलाड़ी कब कहाँ होगा, इस बात की जानकारी वाडा के अधिकारियों के पास नहीं होती.

दूसरी ओर खिलाड़ियों का कहना है कि उन पर बिना बात पाबंदियां लगाई जा रही हैं.

बीसीसीआई की बैठक में महेंद्र सिंह धोनी, युवराज सिंह और हरभजन सिंह मौजूद थे.

बीसीसीआई के अनुसार खिलाड़ियों ने भी वाडा के नियमों पर आपत्ति जताई.

संबंधित समाचार