नेहरु कप आज से

नेहरु कप फ़ुटबॉल प्रतियोगिता 19 अगस्त, बुधवार से शुरु हो रही है.

Image caption पिछला कप भारत ने अपने नाम किया था

भारत नेहरु कप में पिछली बार यानी वर्ष 2007 की विजेता टीम है और वो बुधवार को साढ़े छह बजे अपना पहला मैच लेबनान के साथ खेलेगी.

भारतीय फ़ुटबॉल टीम बार्सिलोना से लौटने के बाद नेहरु कप में हिस्सा ले रही है.

इस टूर्नामेंट में भारत और लेबनान के अलावा सीरिया, श्रीलंका और किरज़िगिस्तान हिस्सा ले रहे हैं.

पहले नेहरु कप में फ़लिस्तीनी टीम भी हिस्सा ले रही थी. लेकिन जब पता चला कि वे एक फ़लिस्तीनी क्लब टीम को भेज रहे हैं तो भारतीय फ़ुटबॉल फ़ेडरेशन ने फ़िलिस्तीनी टीम को इस टूर्नामेंट से हटा दिया.

अखिल भारतीय फ़ुटबॉल फ़ेडरेशन के महासचिव अलबर्टो कोलासो ने कहा है कि नेहरु कप के लिए टीमें बुलाना आसान काम नहीं है.

ट्रेनिंग कैंप से फ़ायदा

भारत के कोच बॉब हॉउटन ने कहा है कि हाल ही में बार्सिलोना और उससे पहले दुबई में टीम ने अच्छा अभ्यास किया है इसलिए टीम फ़िट है और नेहरु कप में अच्छे प्रदर्शन के लिए तैयार है.

फ़ुटबॉल दुनिया का सबसे लोकप्रिय खेल है और इस खेल में भारत दुनिया में 156वें स्थान पर है.

हॉउटन कहते हैं कि भारतीय टीम बहुत कम फ़ुटबॉल खेलती है, इस साल टीम ने केवल एक ही मैच खेला है.

उन्होंने कहा कि भारत पिछले साल की तरह सत्रह मैच खेले तो ज़रुर रैकिंग में सुधार हो सकता है.

खिलाड़ियों में जोश

भारत के स्टार फॉर्वर्ड सुनील छेतरी ने बीबीसी को बताया है कि बार्सिलोना में टीम ने जमकर अभ्यास किया है. उन्होंने कहा भारतीय फ़ुटबॉल टीम नेहरु कप में जी-जान से खेलेगी.

भारत के दूसरे अहम खिलाड़ी अभिषेक यादव ने कहा है कि अगर पूरी टीम तंदरुस्त रहती है तो इस बार भी भारत की जीत की पूरी उम्मीद है. उन्होंने कहा पिछली बार के विजेता होने के नाते टीम से लोगों को बड़ी आशाएं हैं.

भारतीय खिलाड़ी महेश गावली ने बीबीसी को बताया कि टीम के लिए हर मैच अहम है. उन्होंने कहा, "हम लोग पिछली बार के चैंपियन हैं, इसलिए इसे डिफ़ेंड करना बहुत ज़रुरी है."

लेबनान से मुक़ाबला

फ़ुटबॉल समीक्षक ग़ौस मोहम्मद ने बीबीसी को बताया कि लेबनान शारीरिक तौर पर काफ़ी मज़बूत टीम है.

उन्होंने कहा, "पिछले साल अक्तूबर में भारत ने लेबनान के साथ विश्व कप क्वालीफ़ाइंग मैच खेले थे, जिनमें से एक मैच भारत ने जीता था और एक लेबनान ने. लेकिन दिल्ली में अगर बारिश होती है तो इसका फ़ायदा भारतीय टीम को हो सकता है."

वर्ष 2011 में होने वाले एशिया कप में भी भारतीय फ़ुटबॉल टीम खेलेगी.

भारतीय टीम के कोच हॉउटन ने कहा है कि अगली गर्मियों तक इस महत्त्वपूर्ण टूर्नामेंट के लिए टीम को तैयार कर लिया जाएगा.

संबंधित समाचार