रैंकिंग में दूसरे स्थान पर विजेंदर

विजेंदर सिंह

पिछले वर्ष बीजिंग ओलंपिक में भारत को मुक्केबाज़ी में कांस्य पदक दिला चुके विजेंदर सिंह अब मुक्केबाज़ी की अंतरराष्ट्रीय वरीयता में दूसरे स्थान पर पहुँच गए हैं.

इंटरनेशनल बॉक्सिंग एसोसिएशन की ओर से जारी होने वाली वरीयता सूची में अब शीर्ष स्थान से विजेंदर केवल एक सीढ़ी नीचे हैं. उनके ऊपर यानी शीर्ष पर हैं ओलंपिक मुक़ाबले में रजत पदक जीतने वाले क्यूबा के एमीलियो.

वरीयता क्रम में दूसरे स्थान पर जाने की घोषणा के बाद विजेंदर ने बीबीसी से अपनी खुशी ज़ाहिर करते हुए कहा कि वो इस ख़बर से बहुत उत्साहित हैं और उनकी नज़र पहले नंबर पर है.

उन्होंने कहा, "यह मेरे लिए बहुत गर्व की बात है. भारतीय मुक्केबाज़ी के लिए भी आज का दिन बहुत बड़ा है. यह भारतीय मुक्केबाज़ी के इतिहास में पहली बार है कि कोई भारतीय मुक्केबाज़ वरीयता क्रम में दूसरे स्थान पर पहुंचा है."

लेकिन विजेंदर कहते हैं कि उनकी नज़र तो शीर्ष पर है. उन्होंने कहा, "मुझे कर्नल मुरलीधरन से सूचना दी कि मैं वरीयता क्रम में दूसरे स्थान पर पहुँच गया हूं. लेकिन मेरी नज़र वरीयता क्रम के शीर्ष स्थान पर है और मैं जल्द ही उसे हासिल करने का प्रयास करूंगा."

रैंकिंग में सुधार

विजेंदर की वरीयता क्रम में इस बेहतर स्थिति में उनको पिछले वर्ष ओलंपिक में मिले कांस्य पदक का भी विशेष योगदान है.

वो बताते हैं, "ओलंपिक में पदक का तो विशेष योगदान है ही. पिछले दिनों एशियाई चैंम्पियनशिप में अंतरराष्ट्रीय स्वर्णपदक विजेता को हराया था, इससे भी मेरी रैंकिंग में सुधार हुआ है. मुझे इन दोनों उपलब्धियों का फ़ायदा मिला है."

वरीयता क्रम में सुधार की ख़बर मिलने पर अपने ओलंपिक के दिनों को याद करते हुए विजेंदर कहते हैं कि मुझे ऐसे दिन यह ख़बर मिली है, जिस दिन पिछले वर्ष मैं अपना कांस्य पदक पाने जा रहा था.

पिछले वर्ष ओलंपिक में स्वर्ण पदक जीतने वाले जेम्स गेल अब पेशेवर मुक्केबाज़ बन चुके हैं इसलिए वो अब वरीयता सूची से बाहर हो गए हैं.

एजेंसियों के मुताबिक़ वरीयता सूची में अलग अलग श्रेणियों में तीन भारतीय मुक्केबाज़ शीर्ष 10 में अपनी जगह बना पाने में सफल रहे हैं.

संबंधित समाचार