चैम्पियंस लीग की ट्राफ़ी का अनावरण

चैम्पियंस लीग ट्राफ़ी

आठ अक्टूबर से बंगलौर में आयोजित होने वाले चैंम्पियंस लीग टी-20 मैच के लिए ट्राफी का अनावरण मुंबई में किया गया. इस मौके पर लीग के गवर्निंग काउंसिल के चेयरमैन ललित मोदी ने इस बार की सिरीज के रोमांचक रहने का दावा किया है.

हीरे से जड़ी इस ट्रॉफी को मीडिया के सामने पेश किया गया. इस चैंपियंस लीग में दुनियाभर के बेहतरीन खिलाड़ियों से सजी हुई 12 टीमें हिस्सा लेंगी और इस ट्रॉफी पर कब्जा करने के लिए जी तोड़ प्रयास करेंगी.

इतने बड़े मैचों के आयोजन को लेकर ललित मोदी ने तमाम जानकारियां मीडिया के सामने रखीं. सुरक्षा व्यवस्था को लेकर पूछे गए एक सवाल के जवाब में मोदी ने बताया कि इस मौके पर सुरक्षा व्यवस्था के तगड़े इंतजाम किए जाएंगे और इस बारे में राज्य सरकार से बातचीत हो गई है. सुरक्षा के साथ कोई समझौता नहीं किया जाएगा.

चैंपियंस लीग टी-20 मैच में इस बार जो एक और खास बात की गई है वो ये कि मैच के दौरान विशेषज्ञों का एक पैनल 12 टीमों से 11 खिलाड़ियों को उनके सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन के आधार पर चुनेगा और इन्हें संयुक्त रुप से ऑल स्टार्स इलेवन का खिताब दिया जाएगा.

एक और महत्वपूर्ण बात जो इस मौके पर बताई गई वो ये कि इस मैच में कुल पुरस्कार राशि छह मिलियन अमरीकी डॉलर की होगी जिसमें से विजेता टीम को 2.5 मिलियन डॉलर और फर्स्ट रनर अप को 1.3 मिलियन डॉलर की राशि प्रदान की जाएगी.

चैंम्पियंस लीग लोगों में कितना उत्साह जगा पाएगा इस सवाल के जवाब में मोदी ने कहा कि रातों रात ये उम्मीद नहीं कर रहे हैं कि भारी मात्रा में प्रशंसक इससे जुड़ेंगे, इसमें थोड़ा वक्त लगेगा. हां, इतना ज़रुर है कि अगर टीमें अच्छा खेलती हैं तो लोगों की दिलचस्पी अपने आप इन मैचों में होनी शुरु हो जाएगी.

नए दर्शक भी

ललित मोदी ने ये भी बताया कि हमारी योजना उन देशों में भी इस मैच के प्रसारण की है जहां क्रिकेट नहीं खेला जाता और इसके लिए 11 अलग अलग भाषाओं में जिनमें मुख्य रुप से यूरोपीय भाषाएँ जैसे हंगेरिया, इटैलियन, स्पैनिश, जर्मन वगैरह में यूरोस्पोर्ट ब्रॉडकास्ट नेटवर्क के जरिए दिखाया जाएगा.

आठ अक्टूबर से शुरु होने वाले इन मैचों में सबसे पहली बार टीवी के दर्शकों के लिए एक साथ 34 कैमरों का इस्तेमाल कर उन्हें और बेहतर प्रसारण दिखाने का काम भी किया जाएगा.

तीन भारतीय टीमें जिनमें आइपीएल की डेक्कन चार्जर्स (हैदराबाद) ,रॉयल चैलेंजर्स (बंगलौर) और दिल्ली डेयरडेविल्स शामिल हैं, इस टूर्नांमेंट में हिस्सा ले रही हैं. इनके अलावा ऑस्ट्रेलिया, दक्षिण अफ्रीका, इंग्लैंड, न्यूजीलैंड, श्रीलंका और वेस्ट इंडीज की टीमें भी शामिल हैं.

इस मैच में हिस्सा लेने वाली टीमें कुल 19 अभ्यास मैच खेलेंगी जो कि पांच से सात अक्टूबर तक तीन शहरों बैंगलोर, दिल्ली और हैदराबाद में खेले जाएंगे.

संबंधित समाचार