पाकिस्तान के आगे भारत ने घुटने टेके

चैम्पियंस ट्रॉफ़ी में भारत की शुरुआत हार के साथ हुई है.पाकिस्तान से मिले 303 रनों के लक्ष्या का पीछा करते हुए पूरी भारतीय पारी 248 रनों पर सिमट गई.

सेंचुरियन में चिर प्रतिद्वंद्वी पाकिस्तान के ख़िलाफ़ भारत का शानदार रिकॉर्ड इस बार काम न आया. कमज़ोर गेंदबाज़ी और फिर बल्लेबाज़ी में दो रन आउट ने भारतीय उम्मीदों पर पानी फेर दिया.

सुरेश रैना जब आतिशी बल्लेबाज़ी कर रहे थे तब तक भारत लक्ष्य की ओर बढ़ता दिखाई दे रहा था लेकिन उनके आउट होने के बाद कोई और बल्लेबाज़ बल्ले का जौहर दिखाने में विफल रहा.

धोनी

भारतीय कप्तान ने बल्ले से निराश किया.

एक छोड़ से डटे रहे राहुल द्रविड़ ने 76 रनों की शानदार पर धीमी पारी खेली और आख़िर में रन आउट हो कर पैवेलियन लौट गए. उन्हें उमर गुल के थ्रो पर कामरान अकमल ने रन आउट कर दिया.

भारत ने सचिन तेंदुलकर का विकेट जल्दी ही गँवा दिया . मास्टर ब्लास्टर मोहम्मद आमिर के शिकार हुए जिनकी बाहर जाती गेंद उनके बल्ले का बाहरी सिरा छूती हुई विकेटकीपर के हाथों में पहुँची. सचिन सिर्फ़ आठ रन बना सके.

गौतम गंभीर अपना अर्धशतक पूरा करने के बाद यूनिस ख़ान के सीधे थ्रो पर दुर्भाग्यपूर्ण तरीके से रन आउट हो गए. हालांकि उन्होंने बहेतरीन पारी खेली और 57 रन बनाए.

तब क्रीज़ पर राहुल द्रविड़ का साथ देने युवा बल्लेबाज़ विराट कोहली आए लेकिन पाकिस्तानी गेंदबाज़ों ने उन्हें लगातार परेशान करके रखा.

शाहिद अफ़रीदी की एक गेंद को सीमा के पार पहुँचाने के चक्कर में वो उमर गुल के हाथों कैच आउट हो गए. उन्होंने 16 रन बनाए.

इसके तुरंत बाद कप्तान महेंद्र सिंह धोनी को भी अफ़रीदी ने महज तीन के स्कोर पर एलबीडब्ल्यू कर दिया.

सुरेश रैना ने भारतीय पारी को संवारने में अहम योगदान दिया और कुछ ख़ूबसूरत शॉट लगाए लेकिन 46 के निजी स्कोर पर उन्हें सईद अजमल ने पैवेलियन भेज दिया.

ताबड़तोड़ बल्लेबाज़ी के लिए विख्यात यूसुफ़ पठान ने काफी उम्मीदें थीं लेकिन वो भी पाँच रन बनाकर आउट हो गए.

पाकिस्तानी पारी

शोएब मलिक

मलिक और यूसुफ़ टीम को बड़े स्कोर की ओर ले गए.

इससे पहले टॉस जीत कर पहले बल्लेबाज़ी करते हुए पाकिस्तान ने शोएब मलिक के शानदार शतक बूते निर्धारित पचास ओवरों में नौ विकेट पर 302 रनों का बड़ा स्कोर खड़ा किया.

पाकिस्तान के तीन शुरुआती विकेट जल्दी ही गिर गए थे लेकिन फिर मोहम्मद यूसुफ़ और शोएब मलिक ने पारी को संभाला और पाकिस्तान के स्कोर को मिलकर 271 तक ले गए.

दोनों के बीच बेहतरीन साझेदारी हुई. शोएब मलिक ने शानदार शतक जड़ा और 128 रन बनाकर आउट हुए. नेहरा ने भारत की ओर से चार विकेट लिए.

पाकिस्तान ने टॉस जीता और पहले बल्लेबाज़ी करने का फ़ैसला किया.पहले इमरान नज़ीर और कामरन अकमल बल्लेबाज़ी करने उतरे. लेकिन पाँचवे ओवर में आशीष नेहरा ने इमरान नज़ीर को 20 के स्कोर पर आउट कर दिया.

इमरान के जगह आए यूनिस खान कामरन के साथ तेज़ी से रन बटोरे लेकिन नवें ओवर में नेहरा ने फिर कमाल दिखाया और अकमल को चलता किया. वे 19 रन ही बना पाए.

15वें ही ओवर में आरपी सिंह ने यूनिस खान (20 रन)को पवेलियन लौटा दिया. उस समय पाकिस्तान का स्कोर था तीन विकेट पर 65 रन. भारतीय गेंदबाज़ बल्लेबाज़ों को टिकने का मौका नहीं दे रहे थे.

शोएब का शतक

आशीष नेहरा

नेहरा सबसे सफ़ल गेंदबाज़ रहे.

ऐसे में शोएब मलिक और मोहम्मद यूसुफ़ ने पारी को आगे बढ़ाया और पाकिस्तान के स्कोर को 23.1 ओवरों में पहले तो 100 के पार ले गए और वहाँ से स्थिति को संभाला.

भारतीय गेंदबाज़ों ने इस जोड़ी को तोड़ने की भरपूर कोशिश की लेकिन सफल नहीं रहे. आख़िरकर नेहरा ने 46वें ओवर में यूसुफ़ को 87 के स्कोर पर आउट किया. लेकिन तब तक मलिक और यूसुफ़ पाकिस्तान को चार विकेट के नुकसान पर 271 तक ले गए थे.

शोएब मलिक 49वें ओवर में 128 के निजी स्कोर पर हरभजन की गेंद पर आउट हुए.उन्होंने 108 गेंदों में 13 चौकों की मदद से 100 रन बनाए.

पाकिस्तान ने 50 ओवरों में नौ विकेट के नुकसान पर 302 रन बनाए. भारत की ओर से आरपी सिंह ने एक विकेट लिया और ईशांत शर्मा ने दो विकेट चटके.

भारत का अगला मुक़ाबला अब 28 सितंबर को ऑस्ट्रेलिया के ख़िलाफ़ है. पाकिस्तान से मिली हार के बाद भारत को चैम्पियंस ट्रॉफ़ी में अपनी उम्मीदें ज़िंदा रखने के लिए बाकी दोनों मैच जीतने ही होंगे.

ऑस्ट्रेलिया ने शनिवार को ही खेले गए अपने मैच में वेस्टइंडीज़ को 50 रनों से हरा दिया है.

BBC © 2014 बाहरी वेबसाइटों की विषय सामग्री के लिए बीबीसी ज़िम्मेदार नहीं है.

यदि आप अपने वेब ब्राउज़र को अपडेट करते हुए इसे स्टाइल शीट (सीएसएस) के अनुरूप कर लें तो आप इस पेज को ठीक तरह से देख सकेंगे. अपने मौजूदा ब्राउज़र की मदद से यदि आप इस पेज की सामग्री देख भी पा रहे हैं तो भी इस पेज को पूरा नहीं देख सकेंगे. कृपया अपने वेब ब्राउज़र को अपडेट करने या फिर संभव हो तो इसे स्टाइल शीट (सीएसएस) के अनुरुप बनाने पर विचार करें.