रन आउट हुए बोल्ट

यूसैन बोल्ट
Image caption यूसैन बोल्ट के बचपन के हीरो थे पाकिस्तान के तेज़ गेंदबाज़ वक़ार यूनुस

दुनिया के सबसे तेज़ धावक यूसैन बोल्ट अगर क्रिकेट मैदान पर उतरें तो आपके मन में वो अंतिम तरीक़ा कौन सा होगा- जिससे वह आउट हो सकें. शायद रन आउट.

मगर बोल्ट जब चैरिटी मैच में मैदान में उतरे तो वो रन आउट ही हुए. वैसे बोल्ट आउट होने से पहले एक शानदार छक्का लगाकर गए और इतना ही नहीं उन्होंने गेंदबाज़ी से वेस्टइंडीज़ के कप्तान क्रिस गेल को बोल्ड भी कर दिया.

वेस्टइंडीज़ के प्रमुख खिलाड़ियों के साथ 15-15 ओवर के एक चैरिटी मैच में बोल्ट ट्रेलॉनी ऑल स्टार्स एलेवन के कप्तान थे. जमैका के उत्तरी तट पर डिस्कवरी बे नाम की जगह पर ये मुक़ाबला हुआ.

जैसे ही बोल्ट मैदान पर आए, उनके प्रशंसक उत्साह से भर गए और बोल्ट के सुरक्षा गार्डों को लोगों को रोकने में ख़ासी मशक़्क़त करनी पड़ी.

बोल्ट जब बल्लेबाज़ी करने उतरे तो कोई बड़ी पारी तो नहीं खेल पाए मगर क्रिस गेल की गेंद को ज़रूर लंबाई देकर बाउंड्री लाइन के पार पहुँचा दिया.

उन्होंने 10 गेंदों में 13 रन बनाए, जिसमें एक चौका और एक छक्का शामिल था. मगर उसके बाद वह रन आउट हो गए.

बाउंसर

वैसे 100 और 200 मीटर दौड़ में विश्व रिकॉर्डधारी बोल्ट ने गेंदबाज़ी में ज़्यादा असर दिखाया. एक लंबे रन अप के साथ बोल्ट ने गेल को पहली ही गेंद बाउंसर दे दी.

पाकिस्तान के तेज़ गेंदबाज़ वक़ार यूनुस को अपना हीरो बताने वाले बोल्ट ने कहा, "मैंने क्रिस को पहले ही कहा था कि देखे रहना मैं बाउंसर दूँगा मगर उसे इस पर भरोसा ही नहीं हुआ."

इसके बाद बोल्ट ने गेल की गिल्लियाँ बिखेर दीं और उन्हें पैवेलियन की राह दिखा दी.

गेंदबाज़

बोल्ट ने कुल मिलाकर 37 रन देकर एक विकेट लिया. इसके बाद उन्होंने कहा, "बचपन में मैं एक अच्छा क्रिकेटर था और मेरे क्रिकेट कोच का कहना था कि मुझे गेंदबाज़ी पर ध्यान केंद्रित करना चाहिए क्योंकि मैं काफ़ी तेज़ दौड़ सकता था."

उनका कहना था कि वह अपनी स्कूल टीम के लिए सलामी बल्लेबाज़ी किया करते थे मगर काफ़ी लंबे समय से उन्होंने बल्लेबाज़ी नहीं की है. बोल्ट ने कहा, "वैसे छक्का लगाकर काफ़ी अच्छा लगा. मुझे इतनी जल्दी आउट नहीं होना चाहिए था मगर वो छक्का एक बेहतरीन शॉट था."

वैसे पूर्व गेंदबाज़ कर्टली एंब्रोज़ बोल्ट की गेंदबाज़ी से ख़ासे प्रभावित हुए. उन्होंने कहा, "मुझे गेल को उनकी पहली गेंद काफ़ी अच्छी लगी. वह एक एथलीट हैं और उन्हें क्रिकेट और फ़ुटबॉल बेहद पसंद हैं पर निश्चित तौर पर वह हर खेल में तो एक जैसे अच्छे नहीं हो सकते."

संबंधित समाचार

संबंधित इंटरनेट लिंक

बीबीसी बाहरी इंटरनेट साइट की सामग्री के लिए ज़िम्मेदार नहीं है