भारत जीत से छह विकेट दूर

भारीतीय क्रिकेट खिलाड़ी
Image caption फ़ॉलो ऑन के बाद श्रीलंका अभी भी भारत से 356 रन पीछे है.

कानपुर टेस्ट में पहली पारी में भारत से 413 रनों से पिछड़ने के बाद श्रीलंका ने दूसरी पारी में 57 रनों पर चार विकेट गँवा दिए हैं.

अगर पहला और दूसरा दिन भारत के बल्लेबाज़ों के नाम रहा तो तीसरे दिन भारतीय गेंदबाज़ों ने अपना जौहर दिखाया.

काफ़ी दिनों बाद वापसी करने वाले श्रीसंत ने घातक गेंदबाज़ी करते हुए पांच विकेट लिए. उनके अलावा हरभजन सिंह और प्रज्ञान ओझा ने दो-दो विकेट चटकाए.

श्रीलंका की पूरी टीम अपनी पहली पारी में कुल 229 रन बनाकर आउट हो गई इस प्रकार वह भारत से पहली पारी में 413 रनों से पीछे रह गई.

कप्तना महेंद्र सिंह धोनी ने श्रीलंका को फ़ॉलो ऑन देने में कोई देरी नहीं की.

श्रीलंका की ओर से सर्वाधिक 47 रन पिछले मैच के मैन ऑफ़ द मैच महेला जयवर्धने ने बनाया.

सुबह जब खेल शुरू हुआ तो परनविताना अपने सकोर में सिर्फ़ आठ रन ही जोड़ सके और 38 के स्कोर पर आउट होगए जबकि कप्तान कुमारा संगाकारा अपनी पारी में सिर्फ़ 14 रन जोड़ कर 44 पर आउट हो गए.

दूसरी पारी

श्रीलंका फ़ॉलो ऑन के बाद काफ़ी दबाव में नज़र आई और उसके चार चोटी के खिलाड़ी सिर्फ़ 57 रनों पर पवेलियन पहुंच चुके हैं.

Image caption श्रीसंत ने पहली पारी में पांच विकेट लेकर अच्छी वापसी की

दूसरी पारी का पहला विकेट भी श्रीसंत के नाम गया जब उन्होंने तिलकरत्ने दिलशान को 10 रनों पर धोनी के हाथों कैच करवा दिया.

दूसरा विकेट पार्ट टाइम गेंदबाज़ विरेंद्र सहवाग ने लिया जब उन्होंने परनविताना को 20 रनों पर पगबाधा आउट कर दिया.

जयवर्धने को युवराज सिंह और धोनी ने मिलकर रन आउट कर दिया तो जाते-जाते हरभजन सिंह ने कुमारा संगाकारा को 11 रनों पर बोल्ड कर दिया.

श्रीलंका को अपनी हार बचाने के लिए दो दिनों तक खेलना होगा या बारिश की दुआ करनी होगी क्योंकि अब उनके पास सिर्फ़ छह विकेट हैं और अभी पारी की हार से बचने के लिए भी उन्हें 356 रनों के विशाल स्कोर की ज़रूरत है.

शानदार वापसी

विवादों में रहे एस श्रीसंत ने शानदार वापसी करते हुए 75 रन देकर पांच विकेट लिए. श्रीसंत ने अपना आख़िरी मैच कोई 19 महीने पहले कानपुर के इसी ग्रीन पार्क स्टेडियम में खेला था.

तीसरे दिन पहले सत्र में गेंदबाज़ी करते हुए नौ ओवरों में 28 रन देकर तीन विकेट लिया जबकि लंच के बाद वाले सत्र में 7 ओवरों में 18 रन देकर दो विकेट लिए.

दूसरी ओर अपना पहला टेस्ट मैच खेलने वाल प्रज्ञान ओझा ने भी अच्छी गेंदबाज़ी की और एक ओर से रनों को रोके रखा जिसके कारण दूसरी ओर से धोनी को आक्रमक गेंदबाज़ी कराने का मौक़ा मिला.

ओझा ने 23 ओवर किए जिसमें 12 ओवर मेडेन रहे और उन्होंने 37 रन देकर दो विकेट लिए.

भारत ने पहली पारी में 642 रन बनाए जिसमें उनके शुरू के तीनों बल्लेबाज़ों गौतम गंभीर, विरेंद्र सहवाग और राहुल द्रविड़ ने शतक जड़े. गंभीर का यह चार मैचों में लगातार चौथा शतक था.

संबंधित समाचार

संबंधित इंटरनेट लिंक

बीबीसी बाहरी इंटरनेट साइट की सामग्री के लिए ज़िम्मेदार नहीं है